दिव्यांग बच्चों के संरक्षण हेतु दो दिवसीय विशेष कानूनी जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया

0
31

न्यूज़ एनसीआर, 28 अक्टूबर-फरीदाबाद | जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण के तत्वावधान में जिला एवं सत्र न्यायाधीश एंव चेयरमेन ए.के.वर्मा व मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट एंव सचिव डॉ. कविता कांबोज के मार्गदर्शन में (द लिविंग स्टार) दिव्यांग बच्चों के संरक्षण हेतु अभियान के अन्तर्गत दो दिवसीय विशेष कानूनी जागरूकता शिविरों का आयोजन गांव कारना, आलूका, लालवा, नांगल ब्राह्मण, कलसाडा, दीघोट में पैनल अधिवक्ता जगत सिंह रावत, हंसराज शांडिल्य, नारायण शर्मा व इंद्रजीत तथा अनिल, सुंदर लाल पैराविधिक स्वयं सेवकों द्वारा किया गया।

उपरोक्त शिविरों में पैनल अधिवक्ता जगत सिंह रावत, हंसराज शांडिल्य, नारायण शर्मा ने उपरोक्त गांवो में शारीरिक व मानसिक रूप से 42 दिव्यांगों की पहचान की तथा ग्रामीणों व दिव्यांगों को मानसिक स्वास्थ्य अधिनियम के प्रावधानों, दिव्यांगों के संवैधानिक अधिकारों, दिव्यांगों के साथ घरेलू हिंसा निषेध प्रावधानों, नालसा योजना, दिव्यांगों के लिए विभिन्न सरकारी योजनाओं के बारे में जागरूक किया।

उन्हें असमर्थता प्रमाण-पत्र बनवाने, कृत्रिम अंग लगवाने, उपकरण लेने, निशक्त छात्रवृत्ति पेंशन बनवाने, स्कूलों में दाखिला सबन्धी के बारे में जागरूक किया। उन्होंने कहा कि दिव्यांगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उक्त अभियान चलाया जा रहा है। दिव्यांग को भी समानजनक जीवन जीने, भयमुक्त माहौल, शिक्षा व उपचार सहित पोषक आहार प्राप्त करने के अधिकार मिलने चाहिए।

उन्होंने कहा कि कोई भी दिव्यांग सब कुछ करने में सक्षम होता । शिविर में शौर्य फांउडेशन की एडमिनिस्ट्रेटर सावित्री तंवर ने भी अपनी संस्था की तरफ से 16 वर्ष से 30 वर्ष तक के दिव्यांगों के लिए जारी विभिन्न योजनाओं के बारे में ग्रामीणों को जागरूक किया। उन्होंने संस्था के माध्यम से दिव्यांगों को आत्मनिर्भर बनाने बारे संस्था में दिव्यांगों को दाखिल करने के लिए दिव्यांगों के परिजनों को प्रेरित किया। संस्था द्वारा करवाये जा रहे कोर्स के बारे में भी जानकारी प्रदान की। शिविरों में विभिन्न मामलों में कानूनी सलाह मुत प्रदान की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here