शराब के ठेके के कारण बहन-बेटियों की सुरक्षा खतरे में – परमिता चौधरी

0
121

न्यूज़ एनसीआर, 02 सितंबर-फरीदाबाद | सैक्टर-48 में गीता निवास सोसाइटी के सामने खुले शराब के ठेके को बंद करवाने के लिए प्रोटेस्ट किया जा रहा है। प्रशासन से इस शराब के ठेके को कहीं अन्यत्र खुलवाने की मांग की जा रही है। इस मूक आंदोलन को चलते हुए 3 दिन हो गए हैं, संस्कार फाउंडेशन की अध्यक्ष परमिता चौधरी ने ठेके को हटाने की मुहिम लगभग 2 महीने पहले शुरू कर दी थी, प्रशासन में शिकायत करने के बावजूद कोई हल नहीं निकला, जिस कारण प्रतिदिन सायं 5 बजे से 6 बजे तक शांतिपूर्ण ढंग से आंदोलन किया जा रहा है।

आम आदमी पार्टी के नेता धर्मबीर भड़ाना ने भी इस मुहिम को समर्थन दिया व आबकारी एवं कराधान नीति पर सवाल उठाते हुए कहा कि आज शहर में हर आधा किलोमीटर पर शराब का ठेका खुला हुआ है। सरकार को इस नीति में बदलाव करना चाहिए और दिल्ली की तर्ज पर एक पैरामीटर तय किया जाए, न कि जगह-जगह शराब के ठेके खोलने की अनुमति प्रदान कर केवल वसूली की जाए। इतना ध्यान अगर भाजपा सरकार विकास पर देती तो आज शहर के हालात कुछ और होते। चाहे स्कूल हो, धार्मिक स्थल हो या सार्वजनिक स्थल हर जगह पर शराब के ठेके खुले हुए हैं, जिसके चलते क्राइम को बढ़ावा मिल रहा है और आए दिन शहर में हत्या, लूटपाट, डकैती एवं बलात्कार हो रहे हैं। शराब के ठेकों के साथ-साथ आहाते खुले हुए हैं, जहां लोग बैठकर दारू पीते हैं और अपराधिक घटनाओं को अंजाम देते हैं।

अनशनकारी बाबा रामकेवल ने कहा कि, जब क्षेत्र की विधायक स्वयं एक महिला है, तो उनको महिलाओं के हितों एवं उनकी रक्षा के लिए गंभीर कदम उठाने चाहिए। लोगों के घरों के सामने ठेके खुले हुए हैं, सार्वजनिक स्थलों पर ठेकों के चलते महिलाओं एवं लड़कियों का स्कूल, कॉलेज जाना दूभर हो गया है।

इस मौके पर आरटीआई एक्टिविस्ट वरुण श्योकंद, जसवंत पंवार, सुबेदार सत्तार, उमेश कुंडू, परमिता चौधरी, राजूदीन, सुनील ग्रोवर, रणधीर, केवी, कुलदीप चावला, नवीन सैनी, दीपशिखा अधिकारी, सोनू, कुलबीर राणावत, सीएम कोटियाल आदि ने ठेके को बंद करने के लिए प्रदर्शन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here