50 हजार से ज्यादा युवाओं को ट्रेनिंग और नौकरी देने के लिए हुआ समझौता

0
65
न्यूज़ एनसीआर, 15 जुलाई-फरीदाबाद | स्किल डेवलपमेंट अप्रेंटिसशिप और युवाओं को रोजगार देने में हरियाणा आज देश के अग्रणी राज्य में है और हरियाणा विश्वकर्मा स्किल यूनिवर्सिटी के निर्माण के बाद हरियाणा के साथ साथ आसपास के क्षेत्र में भी बेरोजगारी की समस्या खत्म हो जाएगी। यह दावा उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने विश्व युवा कौशल दिवस पर फरीदाबाद सेक्टर 18 स्थित महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित कार्यक्रम में किया। प्रदेश भर में विश्व युवा कौशल दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किए गए और फरीदाबाद में प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
इस मौके पर हरियाणा विश्वकर्मा स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी, हरियाणा स्किल डेवलपमेंट मिशन और रोजगार विभाग ने 6 बड़ी कंपनियों के साथ एमओयू साइन किए जिनमें जगुआर, एचडीएफसी, जेबीएम जी4एस, ओला और उबर कंपनियां शामिल हैं। एमओयू के तहत हरियाणा की 50 हजार से ज्यादा युवाओं को ट्रेनिंग और नौकरी मिलेगी। इस मौके पर कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने कहा कि युवाओं को रोजगार और स्वरोजगार के पथ पर प्रशस्त करने के लिए केंद्र की मोदी सरकार और प्रदेश में मनोहर सरकार ने ऐतिहासिक कार्य किया है। उन्होंने कहा कि स्किल इंडिया मेक इन इंडिया और स्टार्टअप इंडिया जैसी योजनाओं ने युवाओं के लिए कामयाबी के नए द्वार खोल दिए हैं। विपुल गोयल ने कहा कि स्किल डेवलपमेंट और युवाओं को रोजगार देने में हरियाणा की नीतियां सभी राज्यों के लिए आदर्श हैं और खुद केंद्र सरकार ने हरियाणा को स्किल डेवलपमेंट में रोल मॉडल बताया है।
उन्होंने कहा कि दुधौला में बन रही हरियाणा विश्वकर्मा स्किल यूनिवर्सिटी के निर्माण के बाद बेरोजगारी प्रदेश में जड़ से खत्म हो जाएगी। विपुल गोयल ने कहा कि इस यूनिवर्सिटी ने निर्माण से पहले ही 20 कंपनियों के साथ एमओयू साइन करके कोर्स शुरू कर दिए हैं जिनके तहत युवा कंपनियों में ही ट्रेनिंग लेकर अपने भविष्य का निर्माण कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ड्राइविंग कोर्स, राज मिस्त्री कोर्स और जीएसटी ट्रेनिंग जैसे छोटे-छोटे कोर्स के माध्यम से हरियाणा सरकार युवाओं के लिए जल्द से जल्द नौकरी पाने का माध्यम बनने का कार्य कर रही है।
उद्योग मंत्री ने कहा कि आईटीआई पास 32 हजार युवाओं को पिछले साल रोजगार मेलों के माध्यम से नौकरी दी गई और इस साल 50 हजार से ज्यादा युवाओं को रोजगार मेलों के माध्यम से नौकरी देना हरियाणा सरकार का लक्ष्य है। उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने समारोह में उपस्थित सभी कंपनियों के प्रतिनिधियों का भी आभार व्यक्त किया और कहा कि ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के माध्यम से सरकार ने उद्यमियों की राह आसान की है और उद्यमियों को भी रोजगार में हरियाणा के युवाओं को प्राथमिकता देनी होगी। उन्होंने कहा कि सक्षम सारथी योजना के तहत जिस तरह विभिन्न कंपनियां हरियाणा सरकार के साथ आ रही हैं उससे आने वाले समय में रोजगार की असीम संभावनाएं पैदा होने की उम्मीद है।
इस मौके पर हरियाणा स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर राज नेहरू, अतिरिक्त मुख्य सचिव टीसी गुप्ता, कौशल विकास और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के डायरेक्टर आरसी विधान, उपायुक्त अतुल कुमार, एसडीएम एस.एस. मान और अजय चोपड़ा, उद्योगपति एचके बत्रा, विजय शर्मा, कौशल विकास विभाग के वरिष्ठ अधिकारी पीएस नरवाल, संजीव शर्मा, मनोज सैनी सहित कई कंपनियों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here