रोटरी क्लब ऑफ फऱीदाबाद ग्रेटर को प्लेटिनम खिताब से नवाज़ा गया

0
44
न्यूज़ एनसीआर, 06 जुलाई-फरीदाबाद | दिल्ली एनसीआर रीजऩ के 75 रोटरी क्लबों के सालाना अवार्ड फंक्शन मे रोटरी क्लब ऑफ फऱीदाबाद ग्रेटर को कई वर्षों के बाद प्लेटिनम खिताब से नवाज़ा गया। उल्लेखनीय है कि ये अवार्ड पूरे वर्ष भर किए जाने वाले सामाजिक कार्यों और कमजोर वर्गों के जीवन स्तर मे सुधार के लिए किए गए निरंतर प्रयासों के चलते दिया जाता है और इस फैसले मे अंतर्राष्ट्रीय स्तर की जूरी शामिल होती है।
इस बार ये अवार्ड रोटरी क्लब ऑफ फऱीदाबाद ग्रेटर के प्रेसिडेंट रोटेरियन धीरेंद्र श्रीवास्तव को उनके अथक सामाजिक सुधार के कार्यों के चलते दिया गया है और स्वयं धीरेन्द्र श्रीवास्तव को रोटरी के सर्वोच्च अवार्ड ‘एलीट’ के लिए चुना गया, जो कि फऱीदाबाद के रोटरी इतिहास की एक अभूतपूर्व उपलब्धि है। ये पुरस्कार दिल्ली एनसीआर के डिस्ट्रिक्ट रोटरी गवर्नर रोटेरियन रवि चौधरी के द्वारा प्रदान किए गए। धीरेंद्र श्रीवास्तव के अतिरिक्त रोटरी क्लब ऑफ फऱीदाबाद ग्रेटर के अन्य पदाधिकारियों श्रीमति अंजु श्रीवास्तव, अमित जुनेजा, कनिका जुनेजा और संजय गेरा को भी उनके अमूल्य योगदान और सामाजिक सरोकारों से जुड़े शानदार कार्यों के लिए उत्कृष्ट रोटेरियन के खिताब से सम्मानित किया गया। हमारे संवाददाता से बात करते हुए धीरेंद्र श्रीवास्तव जी ने बताया कि इस वर्ष रोटरी क्लब ऑफ फऱीदाबाद ग्रेटर ने फऱीदाबाद तथा आस-पास के पिछड़े इलाकों मे करीब 25 स्वास्थ्य-शिविर लगाए जिनका मुख्य उद्देश्य कैन्सर, मधुमेह और अन्य गंभीर बीमारियों के प्रति जागरूकता तथा निदान के बारे मे न सिर्फ लोगों को जागरूक करना था बल्कि पीडि़तों को ज़रूरी मदद भी प्रदान करना था। जिसमे जिले के मुख्य अस्पताल बीके हॉस्पिटल के प्रमुख डॉ. वीरेंद्र यादव ने भी अपना भरपूर सहयोग दिया। रोटरी क्लब ऑफ फऱीदाबाद ग्रेटर के इस महत्वपूर्ण मिशन मे फऱीदाबाद के कई नामी निजी अस्पतालों ने भी खुले हाथों सहयोग किया।
क्लब ने इस दौरान बीके हॉस्पिटल  को 30 सीलिंग फैन और जच्चा-बच्चा वार्ड मे 16 बेड दान किए। समय-समय पर हॉस्पिटल मे नवजात शिशुओं के लिए कपड़ों की व्यवस्था करना क्लब के रोज़मर्रा के कार्यों मे शामिल था। इसके अलावा नवादा गाँव मे क्लब ने सिंगर सिलाई मशीन के साथ स्वरोजगार योजना के तहत 26 सिलाई मशीनों का एक सिलाई प्रशिक्षण एवं स्किल डेवेलपमेंट केंद्र खोला जो इस समय तक करीब 200 महिलाओं को आत्मनिर्भर बना चुका है। एनआईटी 5 के कन्या सरकारी स्कूल मे 15 कंप्यूटर के साथ डिजिटल ई-लर्निंग सेंटर की स्थापना की गई है जो इस विद्यालय के शिक्षा के स्तर को सुधारने मे एक बेहद महत्वपूर्ण कदम साबित हुआ है। पिछले दो वर्षों के दौरान क्लब ने फऱीदाबाद मे न सिर्फ 2000 पेड़ लगाए वरन ये भी सुनिश्चित किया कि ये सभी पेड़ सुरक्षित रहें। इसके लिए बाकायदा हर रोटेरियन और उनके परिजनों ने एक-एक वृक्ष को गोद लिया।
क्लब ने सैनिक कॉलोनी स्थित रोशनी पब्लिक स्कूल को पूर्ण रूप से अपने प्रायोजित कार्यक्रम मे शामिल कर लिया है जिसके चलते वो इस स्कूल की सभी जरूरतों को अपने स्तर पर पूरा करता है। धीरेंद्र श्रीवास्तव ने भविष्य मे भी अपने इन समस्त कार्यों को मिशन की तरह करने का संकल्प दोहराया और विश्वास व्यक्त किया कि फऱीदाबाद मे रोटरी क्लब ऑफ फऱीदाबाद ग्रेटर जल्द ही एक अनुकरणीय सामाजिक सुधार आंदोलन के रूप मे खड़ा होगा जिसमे सभी वर्ग के लोग अपना योगदान सहर्ष करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here