मंदसौर गैंगरेप: जानिये क्या था पूरा घटनाक्रम

0
81

न्यूज़ एनसीआर, (प्रताप चौधरी) 01 जुलाई-फरीदाबाद | मध्यप्रदेश के मंदसौर में 8 साल की बच्ची के साथ 26 जून को गैंगरेप हुआ। आरोपियों ने हैवानियत का ऐसा खेल खेला कि किसी भी सवेदनशील इंसान की रूह कांप जाए। तीसरी कक्षा मैं पढ़ने वाली बच्ची को स्कूल से लौटते वक्त एक आरोपी बहला-फुसलाकर स्कूल से लगभग एक किलोमीटर दूर सुनसान जगह पर ले जाता हैऔर हैवानियत की साड़ी हदें पार कर देता है।

आपको बता दें कि, यह घटना 26 जून की है, लेकिन मंदसौर व एक-दो क्षेत्रों के अलावा कोई इस बच्ची के लिए आवाज उठाने सामने नहीं आया है। मीडिया भी इस मामले में कुछ ख़ास एक्टिव नहीं दिख रही है। इससे पहले एक कठुआ रेप केस सामने आया था जिसके लिए पूरे देश मोमबत्तिया लेकर सड़कों पर निकल पड़ा था। आज ये सभी बुद्धिजीवी लोग कहाँ गए, क्या यह देश की बेटी नहीं हैं या फिर धर्म के आधार पर प्रदर्शन किया जाता है। हद तो तब हो गयी जब दो नेता बच्ची का हाल-चाल जानने अस्पताल में जाते हैं और उनमे से एक विधायक नेता पीड़ित परिवार से कहता है कि, आपको सांसद जी का धन्यवाद करना चाहिए की वह स्पेशल समय निकाल कर आपके बीच आये हैं।

  • क्या ये हैं हमारे नेता ?
  • क्या ये इन्साफ दिलाएंगे इस बच्ची को जो अस्पताल पहुंचकर सिर्फ राजनीति चमका रहे हैं ?
  • बच्ची अभी ज़िंदा है लेकिन कुछ शरारती तत्वों ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया कि, मंदसौर में हुए गैंग रेप में 8 साल की बच्ची अब नहीं रही। शर्म आनी चाहिए ऐसे लोगों, जबकि बच्ची का इलाज अब इंदौर के अस्पताल में चल रहा है। 

जानिये क्या था पूरा घटनाक्रम


मंदसौर में अपने माता-पिता के साथ रहने वाली 8 साल की मासूम बच्ची स्कूल से लौटते समय गायब हो जाती है। जब काफी देर तक घर नहीं पहुँचती तो माँ-बाप उसे आस-पास के इलाकों सब जगह ढूँढ़ते है। अगले दिन सुबह बच्ची गंभीर हालत में स्कूल से लगभग एक किलोमीटर सुनसान इलाके में लहूलुहान हालत में मिलती है। जब स्थानीय लोग व पुलिस वहां पर पहुंची तो देखा की मासूम बच्ची के साथ गैंगरेप हुआ और उसका गला रेता हुआ था, और बच्ची की साँसे चल रही थी। वहीँ तुरंत बच्ची को अस्पताल ले जाया गया जहाँ डॉक्टर्स ने बलात्कार होने की पुष्टि की। बच्ची के शरीर पर गंभीर चोटों के निशाँ थे।

बच्ची की नाजुक हालत देखकर इंदौर रेफर करना पड़ा, जहाँ अभी तक उसकी दो सर्जरी हो चुकी है, आपको बता दें की बच्ची की आतों को काटकर प्राइवेट पार्ट का ऑपरेशन करना पड़ा। बच्ची की हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है।

पुलिस ने मामले की छानबीन की व् सीसीटीवी खंगालने पर एक आरोपी बच्ची को साथ ले जाते हुए साफ़ दिख रहा है। सीसीटीवी में एक 20 साल का आरोपी इरफ़ान बच्ची के साथ जाता हुआ नजर आ रहा हैं। वहीँ दुसरे आरोपी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया जिसका नाम आशिफ है उम्र 24 साल का है।

बड़ी ही अजीब विडंबना है हमारे देश की, कि कैसे सभी बुद्धिजीवी शांत बैठे हैं। कुछ नेता सिर्फ अपनी राजनीति चमका रहे हैं, कुछ फोटो सेशन कराने के लिए आते हैं। बलात्कार एक ऐसी हैवानियत भरी घटना होती है जो किसी भी सवेंदनशील इंसान को क्रोधित कर देगी, हिला देगी। ऐसी घटनाएं हमारे समाज में तनाव का माहौल बना देती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here