कौंडल गांव में दीवार गिरने से दबी दो छात्राऐं, एक की मौत व एक घायल

0
57
DJL¸FÈ°FIYF ´FìþF IYF RYFB»F RYûMûÜ

न्यूज़ एनसीआर, (उदयचंद माथुर) 27 जुलाई-हथीन | कौंडल गांव में सरकारी स्कूल प्रबंधन की लापरवाही के चलते एक छात्रा की जान चली गई, जबकि दूसरी छात्रा गंभीर रूप से घायल हो गई। घायल छात्रा का इलाज नूंह के मेडिकल कॉलेज में चल रहा है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक स्कूल प्रबंधन ने मिड-डे मील का खाना बचाने के लिए छात्राओं को भंडारे में खाना खाने के लिए भेज दिया था। वापस लौटते समय एक दीवार ढहने से उसके नीचे छात्राएं दब गई थीं।

पुलिस उपाधीक्षक सुरेश कुमार ने घटनास्थल पर पहुंचकर जांच शुरू करवा दी है। विवरण अनुसार गांव कौंडल स्थित माध्यमिक विद्यालय की छात्राएं बृहस्पतिवार को सुबह रोजाना की तरह स्कूल में पढ़ाई करने गई हुई थीं, जिनमें सातवीं कक्षा की 13 वर्षीय छात्रा पूजा व आठवीं कक्षा की 14 वर्षीय छात्रा मोनिका भी शामिल थीं। बताया जाता है कि गांव के मंदिर में बृहस्पतिवार को भंडारे का आयोजन किया हुआ था। आयोजकों ने स्कूल प्रबंधन से स्कूली छात्रों को भंडारे में भेजने के लिए आग्रह किया। स्कूल प्रबंधन की तरफ से मिड-डे मील को बचाने के चक्कर में सभी छात्राओं को 11 बजे भंडारे में प्रसाद ग्रहण करने भेज दिया गया। भंडारे से प्रसाद ग्रहण करके लौट रही छात्राओं के ऊपर बूंदाबांदी की वजह से रास्ते में ईटों की बनी पुरानी दीवार टूटकर गिरी पडी। दीवार के नीचे दबने से छात्रा पूजा व मोनिका गंभीर रूप से घायल हो गई।

घायल छात्राओं को तुरंत हथीन की अस्पताल में लाया गया, जहां पर पूजा को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया जबकि मोनिका को पलवल के अस्पताल में इलाज के लिए लाया गया। वहां से उसकी हालत गंभीर देखते हुए नूंह स्थित मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर कर दिया गया। सूचना मिलते ही अस्पताल में खंड शिक्षा अधिकारी यशपाल गर्ग भी मौके पर पहुंच गए। ग्रामीणों ने स्कूल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया है। जांच अधिकारी मनोज कुमार का कहना था कि मामले की जांच की जा रही है। शिकायत के आधार पर कार्रवाई होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here