हरियाणा कौशल विकास मिशन द्वारा प्रदेश के छात्रों की कौशल प्रतिभा को उभारना है – विपुल गोयल

0
56

न्यूज़ एनसीआर, 28 जून-फरीदाबाद | हरियाणा कौशल विकास मिशन के प्रयासों से हरियाणा के 15 प्रतिभागियों ने विश्वस्तरीय स्तरीय प्रतियोगिता में स्थान बनाया है। यह 15 कुशल प्रतिभागी आगामी वर्ष रशिया के कज़ान में होने वाली प्रतियोगिता में भाग लेंगे। यह जानकारी हरियाणा के कौशल विकास एवं ओद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के मंत्री विपुल गोयल ने बुधवार को पंचकूला के सेक्टर – 3 स्थित कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के भवन में राज्य कौशल प्रतियोगिता 2018 के 23 विजेताओं को सम्मानित करने के पूर्व अपने सम्बोधन के दौरान दी।

उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि, उनके सतत् प्रयासों से ही हरियाणा ने पहली बार इस प्रतियोगिता में भाग लिया है और पहली बार में ही देश में हुई कौशल विकास प्रतियोगिता में हरियाणा ने महाराष्ट्र के बाद दूसरा स्थान प्राप्त किया है। हरियाणा में जल्द ही 22 आईटीआई को मॉडल आईआईटी बनाया जायेगा। मॉडल आईटीआई के छात्र अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जाकर अपनी सेवाएं दें, इसके लिए हरियाणा कौशल विकास विभाग जर्मनी व सिंगापुर जैसे देशों का सहयोग लेगा। यह बहुत ही हर्ष की बात है कि, इस वर्ष पलवल आईटीआई के 15 छात्रों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर नौकरी प्राप्त हुई है। अपरेंटिस में हरियाणा पूरे देश में पहले स्थान पर है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा में 2015 में कौशल विभाग की स्थापना की गयी थी। हरियाणा कौशल विकास मिशन द्वारा प्रदेश के छात्रों की कौशल प्रतिभा को उभारना है। इसके तहत जोनल स्तर पर करवाई प्रतियोगिता में 22 जि़लों के 388 प्रतिभागियों ने 19 कौशलों में भाग लिया, जिसमें से 121 प्रथम व द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को 8 लाख 18 हज़ार रुपये की राशि देकर सम्मानित किया गया। इसी प्रकार राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में 231 प्रतिभागियों ने 19 कौशलों में अपनी कला का प्रदर्शन किया, जिनमें से इनमें से 39 बच्चों ने क्षेत्रीय प्रतियोगिता के लिए उत्तीर्ण करके महाराष्ट्र के बाद हरियाणा को देश में दूसरा स्थान दिलाया और यह प्रदेश के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। अगले वर्ष प्रदेश को पहले स्थान पर पहुँचाने के लिए सभी प्रयास किये जायेंगे।

इस मौके पर कौशल विकास एवं ओद्यौगिक प्रशिक्षण विभाग के निदेशक श्री आरसी बिधान व अतिरिक्त मुख्य सचिव टी.सी. गुप्ता ने मिशन की गतिविधियों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री व श्री विपुल गोयल के मार्गदर्शन में हरियाणा कौशल विकास एवं ओद्यौगिक प्रशिक्षण विभाग बड़ी तेजी से आगे बढ़ रहा है। मिशन के तहत बच्चों की गुणवत्ता पर विशेष बल दिया जाता है और विभाग का प्रयास है कि बच्चे जब यहां से बाहर निकलें तो उनके पास दो-दो रोजगार हों या वे अपना स्वयं का रोजगार स्थापित करने में सक्षम हों। उन्होंने बताया कि इस साल विभाग द्वारा एक लाख 15 हजार बच्चों का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

कार्यक्रम के दौरान विपुल गोयल ने ऑटोमोबाइल तकनीक में गुरुग्राम के अभिमन्यु कुमार, सी.ऐन.सी. मिलिंग में देवेंद्र, सी.ऐन.सी. टर्निंग में जींद के अभिषेक, हेयर ड्रैसिंग में फरीदाबाद की चंचल, प्लंबिंग एवं हीटिंग में गुरुग्राम के जितेंद्र कुमार, ब्यूटी थैरपी में हिसार की अलीशा, वैल्डिंग में फरीदाबाद के मनीष कुमार तथा इलैक्ट्रिकल इंस्टालेशन में हिसार के हरेंद्र को प्रथम स्थान प्राप्त करने पर 50-50 हजार रुपए के चैक वितरित कर सम्मानित किया। इसके साथ-साथ ऑटोमोबाइल तकनीक में पंचकूला के गुलशन सैनी, कारपेंटिंग में मोहम्मद इमरान, कारपेंटरी में सोहन के आकाश, सी.ऐन.सी. मिलिंग में अकबरपुर के अवनीश, सी.ऐन.सी. टर्निंग में हिसार के रिंकू, हेयर ड्रैसिंग में फरीदाबाद की काजल, पेंटिंग एवं डैकोरेशन में बरवाला के नसीब, ऑटोबोडी रिपेयर में जहांगीरपुरी के मोहम्मद आरिफ, ब्यूटी थैरपी में फरीदाबाद की सपना, वेब डिजाइन एवं डेवलपमेंट में चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के चेतन गुलाटी, वैल्डिंग में तिरलोक तथा इलैक्ट्रिकल इंस्टालेशन में सोनू को द्वितीय स्थान प्राप्त पर 25-25 हजार रुपए की राशि से सम्मानित किया गया जबकि मैक्ट्रॉनिकस में गुरुग्राम के मोहित कुमार व रवि कुमार को सांत्वना पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर कार्यक्रम में मिशन निदेशक श्री राज नेहरू ने सभी विजेताओं तथा उनके अभिभावकों को बधाई दी। उन्होंने बताया कि सरकार की कौशल को स्वावलंबन का एक सम्मानजनक स्रोत्र बनाने की परिकल्पना को साकार करने के लिए स्किल मिशन सदैव अग्रणी तथा तत्पर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here