महिला कार्यस्थल पर यौन शोषण निषेध जागरूकता अभियान के तहत किया कानूनी शिविर का आयोजन

0
27

न्यूज़ एनसीआर, (उदयचंद माथुर) 14 जून-हथीन | जिला विधिक सेवाएँ प्राधिकरण के तत्वावधान में जिला एवं सत्र न्यायाधीश एंव चेयरमेन अशोक कुमार वर्मा व माननीय मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट एंव सचिव डॉ कविता कांबोज के मार्गदर्शन में (हैव ए सेफ वर्कप्लेस) कार्यस्थल पर महिला का यौन शोषण निषेध जागरूकता अभियान के अन्तर्गत शीतल हस्पताल में विशेष कानूनी जागरूकता शिविर का आयोजन पैनल अधिवक्ता जगत सिंह रावत, अनुराधा चौहान व इंद्रजीत पी एल वी द्वारा किया गया। शिविर में पैनल अधिवक्ता जगत सिंह रावत ने हस्पताल के कर्मचारियों को हैव ए सेफ वर्कप्लेस (कार्यस्थल पर महिला का यौन शोषण निषेध जागरूकता अभियान) के उद्देश्य के बारे में जागरूक किया।

उक्त अभियान के माध्यम से विशेष तौर से महिला कर्मचारियों को कार्य स्थल पर होने वाले यौन शोषण के विरूद्ध जागरूक करना है, ताकि वे भविष्य में अपने अधिकारों को संरक्षित रख सकें और शोषण के विरूद्ध अपनी आवाज उठा सकें। उन्होंने कार्यस्थल पर महिला का यौन शोषण (निवारण, निषेध एवं प्रतितोष) अधिनियम, 2013 के अंतर्गत नियुक्ताओं की ड्यूटी व जिम्मेदारियों, आंतरिक शिकायत समिति बनाने का ढंग, समिति की शक्तियों व शिकायत दायर करने की कार्यवाही के बारे में जागरूक किया। कार्य स्थल पर महिला का शोषण करना दंडनीय अपराध है। शिविर में पैनल अधिवक्ता अनुराधा चौहान ने बताया कि कार्य स्थल पर महिला को यौन शोषण से बचाना उक्त अधिनियम का उद्देश्य है। उन्होंने महिलाओं के लिए जारी विभिन्न प्रकार की मुफ्त कानूनी सेवाओं के बारे में भी जागरूक किया।

इसके अलावा प्राधिकरण की सेवाओं तथा स्थायी लोक अदालत सहित हेल्पलाइन 01275 298003 के बारे में भी जानकारी प्रदान की। शिविर के माध्यम से आंतरिक शिकायत समिति के गठन की प्रक्रिया के लिए भी सहयोग किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here