बालश्रम रोकथाम के लिए कैबिनेट मंत्री ने बच्चों को बांटे स्कूली बैग

0
93
न्यूज़ एनसीआर, 17 जून-फरीदाबाद | श्रम एवं रोजगार मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संचालित राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना फरीदाबाद की ईकाई के विश्व बाल श्रम निषेध पखवाडा कार्यक्रम के दौरान केबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने गरीब व जरूरतमंद बच्चों को स्कूली बैग वितरित किये। बच्चों को बैग देने का कार्यक्रम केबिनेट मंत्री विपुल गोयल के सेक्टर 16 कार्यालय पर किया गया, जहां बालश्रम परियोजना की प्रोजेक्ट डायरैक्टर रुकमनी और प्रोग्राम मैनेजर शिवकुमार ने मंत्री विपुल गोयल को पौधा देकर स्वागत किया। राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना फरीदाबाद की ईकाई द्वारा 12 जून से विश्व बालश्रम निषेध दिवस के रूप में चल रहे सप्ताहिक पखवाडे के दौरान आज सरकार की ओर से उन गरीब व जरूरतमंद बच्चों को स्कूल बैग वितरित किये जो स्कूली सामिग्री खरीदने में असमर्थ है जिसके कारण वह पढ नहीं पाते हैं।
यह शुभ कार्य सेक्टर 16 केबिनेट मंत्री विपुल गोयल के कार्यालय पर स्वयं मंत्री विपुल गोयल के हाथों से करवाया गया, मंत्री गोयल ने दर्जनों गरीब जरूरतमंदों को बैग वितरित किये। इस दौरान मंत्री ने बालश्रम न तो करवायेंगे और न ही अपने आसपास होने देंगे का संदेश देने वाले बोर्ड पर अपने हस्ताक्षर किये। कार्यक्रम में बालश्रम परियोजना की प्रोजेक्ट डायरैक्टर रुकमनी और प्रोग्राम मैनेजर शिवकुमार ने मंत्री विपुल गोयल का पौधा देकर स्वागत किया।
केबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने बताया कि बालश्रम एक अपराधिक गतिविध है जिसे कोई भी न करवाये, इसके लिये सरकार द्वारा समय समय पर बच्चों को स्कूली सामिग्री और भोजन दिया जाता है ताकि बच्चा पढे और पौष्टिक आहार खाकर स्वस्थ्य भी रहे, बच्चों से बालश्रम करवाने की जगह उसे पढाया ताकि बालश्रम अपने परिवार से हमेशा हमेशा के लिये खत्म हो जाये,, वहीं मंत्री गोयल ने उन बच्चों से भी अपील की जो इन दिनों बालश्रम कर रहे हैं, कहा कि कुछ पैसे के लिये छोटी उम्र में काम न करें इस उम्र में पढाई करके कामयाब इंसान बने जिससे आपका और आपके परिवार का नाम हो सके।
वहीं राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना फरीदाबाद की प्रोजेक्ट डायरैक्टर रुकमनी ने बताय कि श्रम एवं रोजगार मंत्रालय भारत सरकार द्वारा पूरे देश में बालश्रम रोकने और लोगों को जागरूक करने के लिये एक सप्ताह का पखवाडा चलाया हुआ है जिसमें उनकी टीम स्लम क्षेत्रों में जा जाकर लोगों और बच्चों को बालश्रम को लेकर जागरूक कर रही है।
इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना फरीदाबाद की प्रोजेक्ट डायरैक्टर रुकमनी, प्रोग्राम मैनेजर शिवकुमार, रंजीत, टिल्लू प्रधान, सूरज, समशाद, और संजय कंनौजिया मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here