पलवल में सीएम रोड शो रहा एकदम फ्लॉप – करन दलाल

0
114

न्यूज़ एनसीआर, (उदयचंद माथुर) 11 जून-पलवल | पलवल के कांग्रेसी विधायक व पूर्व मंत्री करण दलाल ने हाल ही में हुए सीएम के रोड शो को एकदम फ्लॉप बताते हुए कहा कि दुकानदारों से उगाही कराई गई। जबरन स्वागत कराया गया। रेस्ट हाउस पलवल में सोमवार को आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में श्री दलाल ने रोड शो में सरकार कर्मचारी, पुलिस के जवान सादी वर्दी में शामिल कराए गए ताकि भीड़ दिखाई दे सके। आम आदमी तो रोड शो के करीब तक नहीं फटका। रोड शो के नाम पर तीन दिन तक रेहड़ी वालों को हटा दिया गया। रोड शो में सिवाए पैसे व समय की बर्बादी के अलावा  और कुछ हासिल नहीं हुआ। दलाल ने कहा रोड शो करने की जरूरत ही नहीं थी। अगर किया भी तो दुकानदारों से खर्च करवाने की क्या जरूरत थी। स्वागत के लिए बनाए गए तोरण द्वार सरकारी खर्चे पर लगाने चाहिए थे। इतना तमाशा करने के बावजूद सीएम पलवल के लिए नई घोषणाएं तक नहीं कर गए। रोड शो के दौरान रास्ते में महर्षि बाल्मीकि व मीनारगेट पर महाराजा अग्रसेन की प्रतिमा लगी हैं, मगर सीएम मनोहर लाल ने उनपर फूलमालाएं चढ़ाना उचित तक नहीं समझा। जबकि जब भी इस तरह के आयोजन होते हैं तो महापुरूषों को फूल मालाएं पहनाकर उनका सम्मान किया जाता है। उन्हें पेट्रोल पंप के सामने स्थित श्री सिंह सभा गुरूद्वारा में भी मत्था टेकना चाहिए था।  दलाल ने कहा कि ऐसा न करके सीएम ने पलवल का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि सीएम के साथ मौजूद रहे केन्द्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर सहित दूसरे नेताओं को विरोध  प्रकट करते हुए अपने अपने पदों से इस्तीफा देना चाहिए। परंतु ये ऐसा करेंगे नहीं क्योंकि इन नेताओं को सम्मान से अधिक कुर्सी प्यारी है।

विधायक दलाल ने कहा कि आने वाले चुनाव में बीजेपी को औकात पता चल जाएगी। पिछले चुनाव में बीजेपी की फेकु रणनीति कामयाब तो हो गई थी मगर अब जनता सब जान चुकी है। जनता से किए गए वायदों को पूरा न कर पाने के कारण सीएम करनाल क्षेत्र छोडक़र अपने लिए दूसरे क्षेत्र तलाश रहे हैं। दलाल ने चुनौती देते हुए कहा कि सीएम उनके सामने पलवल विधानसभा सीट से चुनाव लड़ कर दिखाएं। दलाल ने कहा कि पलवल क्षेत्र ऐसा क्षेत्र है, जिसने समय आने पर सीएम बदले हैं और सम्मान की लड़ाई में प्रधानमंत्री तक की परवाह नहीं की है। उन्होंने कहा कि अब भी कांग्रेस सरकार आने पर पलवल क्षेत्र से ही फैसले लिए जाएंगे।

दलाल ने एक सवाल के जवाब में कहा कि बीजेपी सरकार ने पलवल क्षेत्र के लिए नया विकास कोई नहीं किया। उनके पिछली कांग्रेस सरकार के दौरान मंजूर विकास कार्यों को ही या तो पूरा किया है या फिर उसे रोक दिया गया  है। उन्होंने कहा कि पलवल केे हक की लड़ाई तो वह विधानसभा में ही जंग लडक़र करेंगे।
हाल ही में पूर्व मंत्री सुभाष कत्याल के बीजेपी में शामिल होने पर जब पूछा गया कि क्या कत्याल आने वाले समय मेंं उनके लिए खतरे की घंटी हैं तो जवाब में दलाल ने कहा कि मैं ही दूसरे  दिलों के नेताओं के लिए खतरे की घंटी हूं।

दलाल ने कहा कि बीजेपी हो या इनेलो जितने दावेदार उनके बढ़ेंगे, उतना ही उन्हें राजनैतिक लाभ होगा। ये नेता टिकट न मिलने की सूरत में अगले चुनाव में अपनी टिकट पक्की करने के लिए उनका साथ देंगे। उन्होंने राज्यमंत्री मनीष ग्रोवर के उस बयान पर कि कांग्रेस में भूपेन्द्र हुडडा की जन क्रांति रथ यात्रा व अशोक तंवर की साइकिल यात्रा आपस में ही नूरा कुश्ती है के जवाब में कहा कि कोई कुश्ती ही नहीं है। सभी कांग्रेसी एकजुट हैं हमारी लड़ाई इनेलो व बीजेपी से है।

दलाल ने कहा कि केेएमपी व केजीपी के काम कांग्रेस में शुरू हुए। अब आखिरी चरण के कार्य को बीजेपी ने कराया तो उसका भी वह धन्यवाद करते हैं कि बीजेपी ने कम से कम कांग्रेस के कार्य को सिरे तो चढ़ाया। उन्होंने पलवल व बल्लबगढ़ के मध्य रूके हुए पुल कार्यों को लेकर कहा कि इन्हें पूरा कराया जाए। दलाल ने आरोप लगाया कि खुलकर निर्माण सामग्री हल्की लगाई जा रही है। क्वालिटी की जांच होनी चाहिए।

उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी खुद को महिमामंडित करने वाले प्रचार  में आगे है। उन्होंने ट्रांसपोर्ट नगर मंजूर कराया था मगर वह रोक दिया गया। घुघेरा में स्टेडियम का शिलान्यास किया। दलाल ने कहा कि ऐसे कितने ही काम हैं, जिन्हें उन्होंने मंजूर कराया मगर बीजेपी की मौजूदा सरकार ने उन्हें रोक दिया। चार साल होने को आए हैंं मगर सीएम मनोहर लाल को न शासन चलाना आया है न लोगों को राहत देना आया है। उल्टा लोगों के रोजगारों पर ताले लगवा दिए हैं। लोगों को जातियों व धर्मों में बांट कर विष घोलने का काम किया है।

इस अवसर पर नगर परिषद पलवल के पूर्व चेयरमैन केशव देव मुंजाल, पूर्व पार्षद बलराम गुप्ता, नारायण सैनी, महेन्द्र इरफान आदि मुख्य रूप से मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here