कुख्यात बदमाश को पकडने गई पुन्हाना पुलिस पर हुई फायरिंग, दो जवान गंभीर रूप से घायल

0
14

न्यूज़ एनसीआर, (मनीष आहूजा) 20 जून-पुन्हाना | पुलिस कर्मी की हत्या में उम्र कैद का अपराधी एंव जेल से भगौडे कुख्यात बदमाश मुस्ताक को पुन्हाना के गांव बादली से पकडने गई पुन्हाना पुलिस पर मुस्ताक व उसके साथियों ने जमकर फायरिंग की। बदमाशों की फाईरिंग से पुलिस के दो जवान गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को मेडिकल कॉलेज नलहड में भर्ती कराया जहां से उनको गुरूग्राम की एक निजि अस्पताल में रैफर किया गया है। एक जवान की हालत चिंताजनक बनी हुई है। हालांकि मुठभेड़ के बाद दो बदमाश पुलिस के हत्थे चढ गए। जबकि मुस्ताक सहित बाकी फरार हो गए। पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ की सूचना मिलते ही एसटीएस गुरूग्राम प्रमुख सतीश बालान व पलवल पुलिस कप्तान वसीम अकरम सहित आलाअधिकारी मेडिकल पहुंचे जहां उन्होने घायल जवानों का हाल-चाल जाना। वहीं मामले में पुन्हाना पुलिस ने 12 लोगों के खिलाफ हत्या का प्रयास सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

नूंह एसपी नाजनीन भसीन के छुटटी पर जाने के बाद पलवल के पुलिस कप्तान वसीम अकरम ने चार्ज संभाला। वहीं बाद में पुलिस कप्तान वसीम अकरम व एसटी स गुरूग्राम प्रमुख बी सतीश बालान ने भारी पुलिस दल बल के साथ एक बार गांव बादली में रेड़ मारी, परंतु पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा। सभी आरोपी अपने घरों को छोडकर भाग गए। नूंह एंव पलवल के पुलिस कप्तान वसीम अकरम ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि मुस्ताक पुत्र मजीद जो वर्ष 2008 में उमर मोहम्मद सिपाही की हत्या के मामले में उम्र कैद का सजा काट रहा था। वह जेल से पैरोल पर आने के बाद वापिस जैल नहीं गया और फिर से अपराध की दुनियां में शामिल हो गया। जेल से छूटने के बाद भी मुस्ताक ने अपने पांच भाईयों और अन्य बदमाशों के साथ हरियाणा और राजस्थान के विभिन्न जिलों में करीब 20 से अधिक लूट, डकैती, आदि वारदातों को अंजाम दिया।

एसपी वसीम अकरम ने बताया कि पुन्हाना पुलिस को गुप्त सूचना मिली की बदमाश मुस्ताक अपने बदमाश भाईयों के साथ बादली गांव में अपने घर पर छिपे हुए है। जिनके पास काफी मात्रा में अवैध हथियार है जो किसी बडी वारदात को अंजाम देने के लिये इक्कठा हुए है। मंगलवार को पुन्हाना थाना और सीआईए पुन्हाना की टीम ने मिलकर गांव बादली में बदमाशों के ठिकाने पर छापा मारा। पुलिस टीम ने मौके पर पंहुच कर बदमाशों के मकान को घेर लिया गया। पुलिस की आवाज सुनकर बदमाश मुस्ताक उसके भाई हफीज, शाद, आदिल अबदुल्लाह तथा अन्य साथी एजाज उर्फ बुल्ली पुत्र कायम अज्जू पुत्र कायम, मोटा पुत्र कायम तथा निसार पुत्र जकरिया निवासी बादली सहित बदमाशों ने पुलिस पर तुरंत फायरिंग करनी शुरू कर दी। बदमाश आदिल द्वारा की गई फायरिंग की गोली हवालदार चन्द्रपाल के पेट में लगी वहीं बदमाश हफीज द्वारा चलाई गई गोली हवालदार कृष्ण के सिर में लगी। पुलिस की ओर से जवाबी हवाई फायरिंग की गई। जिसके बाद बदमाश भागने लगे। भागते समय आदिल व हफीज के पैरो में छत के कूदने के दौरान चोट आ गई जिन्हें पुलिस ने पकड लिया। बदमाश आदिल और हफीज के पकडे जाने से बदमाशों के परिवार की महिलाओं ने भी पुलिस पर पथराव कर उनको छुडाने का प्रयास किया।

एसपी ने बताया कि पुलिस के घायल जवानों को तुरंत मेडिकल कॉलेज नल्हड भेजा जहां से उनको गुरूग्राम के एक प्राईवेट अस्पताल में रेफर किया गया है। वहीं दोनों आरोपियों के कब्जे से एक देशी कट्टा, एक देशी बंदूक व दो कारतूस बरामद किये गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here