ओडिशा के राज्यपाल प्रो. गणेशीलाल का फरीदाबाद में हुआ भव्य स्वागत

0
57
न्यूज़ एनसीआर, 21 जून-फरीदाबाद | हरियाणा के जनता के अपार स्नेह के दम पर ही आज मैं इतने बड़े मुकाम पर पहुंचा हॅूं और राजभवन के माध्यम से अंतिम छोर पर खड़े लोगों के लिए काम करना ही मेरा संकल्प है। यह वक्तव्य ओड़िशा के राज्यपाल प्रो. गणेशीलाल ने एनआईटी फरीदाबाद सभागार में जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहे।
प्रो. गणेशीलाल ने कहा कि भारत देश विकसित होने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है। पिछले कुछ सालों में देश के विकास कार्यों में बहुत अधिक तेजी आई है। उन्होंने कहा कि देश के विकास के लिए हर व्यक्ति को अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करना होगा तथा उन्हें साथ मिलकर आगे बढ़ना होगा। उन्होंने कहा कि ओड़िशा के राज्यपाल बनने के बाद उनकी पहली प्राथमिकता शिक्षा के माध्यम से आदिवासी और गरीब तबके को ऊपर उठाने की रहेगी।
केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने नगर निगम सभागार में ओड़िशा के नवनियुक्त राज्यपाल का स्वागत करते हुए कहा कि उन्हें प्रो. गणेशीलाल से बहुत कुछ सीखने को मिला है। उन्होंने बताया कि जब वे विधानसभा में जाते थे तो उनसे सलाह लेते थे। उन्होंने कहा कि भाजपा में साधारण सा कार्यकर्ता प्रधानमंत्री बन सकता है और साधारण सा कार्यकर्ता ही किसी भी राज्य का राज्यपाल बन सकता है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रपति ने प्रो. गणेशीलाल को 29 मई 2018 को ओड़िशा का राज्यपाल बनाया।
हरियाणा उद्योग एवं पर्यावरण मंत्री विपुल गोयल ने कहा कि प्रो0 गणेशी लाल जैसी हस्तियों ने हरियाणा में भाजपा का संगठन खड़ा किया और उन्हीं के प्रयासों से आज हरियाणा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सरकार है। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने हरियाणा जैसे छोटे से प्रदेश से दो राज्यपाल बनाए हैं। जिनमें आचार्य देवव्रत को हिमाचल का राज्यपाल व प्रो. गणेशी लाल को ओड़िशा का राज्यपाल बनाकर हरियाणा का मान बढ़ाया है।
इस अवसर पर विधायक सीमा त्रिखा, मूल चन्द शर्मा, टेकचन्द शर्मा, नगेन्द्र भड़ाना, नगर निगम की महापौर सुमन बाला, भाजपा जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा, उपायुक्त अतुल कुमार द्विवेदी, भाजपा नेता अमन गोयल, नरेन्द्र गुप्ता के अलावा शहर की जाने माने उद्योगपति के.सी. लखानी, राजीव चावला व अन्य संस्थाओं के पदाधिकारियों ने राज्यपाल का गुलदस्ते व शाॅल ओढ़ाकर स्वागत किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here