मानव रचना में स्थापित की जाएगी WASH लैब

मानव रचना कैंपस में WASH (Water, Sanitation and Hygiene) लैब होगी स्थापित

0
26

न्यूज़ एनसीआर, 03 मार्च-फरीदाबाद | फरीदाबाद नगर निगम (MCF), नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ अर्बन अफेयर्स (NIUA) और मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज के बीच त्रिपक्षीय समझौता साइन किया गया। इस समझौते के तहत मानव रचना कैंपस में WASH (Water, Sanitation and Hygiene) लैब स्थापित की जाएगी। इस मौके पर MRIIRS के वीसी डॉ. एनसी वाधवा, NIUA के डायरेक्टर प्रोफेसर जगन शाह और फरीदाबाद नगर निगम के कमिश्नर मोहम्मद शाईन, मानव रचना यूनिवर्सिटी के वीसी डॉ. संजय श्रीवास्ताव, मानव रचना के ट्रस्टी एमएम कथूरिया, डॉ. सरिता सचदेवा, डॉ. डीके चड्ढा समेत कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

आपको बता दें, एनआईयूए शहरी जल, स्वच्छता, स्वच्छता समाधान (आईएचयूवाश) परियोजना के लिए इनोवेशन हब को कार्यान्वित कर रहा है जिसे USAID फंड कर रहा है। एनआईयूए, टीएआरयू लीडिंग एज, आईआरसी और एनोवेन्ट की इस संयुक्त पहल का उद्देश्य शहरी WASH कार्यक्रमों के सहयोगी ढांचे के साथ प्रदर्शन में सुधार करना है। IHUWASH परियोजना फरीदाबाद के अलावा मैसूर और उदयपुर में भी लागू की जा रही है। परियोजना का लक्ष्य WASH सेवा वितरण प्रणाली में सुधार करना है।

अकादमिक और नवाचार के महत्व के साथ-साथ मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज फरीदाबाद शहर नागरिकों के लिए सेवाओं में सुधार लाने और समाज के सुधार में योगदान देने के लिए प्रतिबद्ध है।

मानव रचना में वाश लैब की स्थापना का उद्देश्य वाश क्षेत्र में एमसीएफ को सलाहकार समर्थन प्रदान करना; अनुबंध संस्था से परे WASH नवाचार लैब की स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए निजी संस्थाओं और उद्योगों के साथ भागीदारी बनाना; शहरी क्षेत्रों में WASH नवाचारों को लागू करने में सरकारी अधिकारियों की क्षमता बढ़ाने के लिए प्रशिक्षण, कार्यशालाओं, क्षमता निर्माण कार्यक्रम आयोजित करना और इस प्रकार एसबीएम, एएमआरयूटी और एससीएम के लक्ष्यों को अधिक प्रभावी ढंग से प्राप्त करना हैं।

डॉ. डीके चड्ढा को USAID की ओर से मानव रचना परिसर में स्थापित की जा रही वॉश लैब का चेयर पर्सन नामित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here