मथुरा के एक व्यापारी के गेंहू को पुलिस ने पकड़ा, सचिव ने छुड़वाया

0
139

न्यूज़ एनसीआर, (उदयचंद माथुर) 23 अप्रैल-हथीन | सरकार चाहे लाख कोशिश कर ले लेकिन यूपी का गेहूं हथीन अनाज मंडी में आने से नहीं रूक रहा है। जिसका मुख्य कारण सम्भवतय: नौकरशाह ही है। जोकि यूपी के गेहूं की आवक को यहां बढावा दे रहे हैं। जिसका प्रत्यक्ष प्रमाण सोमवार को देखने को मिला है। दरअसल हुआ यूं कि दो ट्रैक्टरों में उत्तरप्रदेश के मथुरा जिला से एक व्यापारी ने 405 गेहूं के कट्टे लादकर हथीन अनाज मंडी में एक आढ़ती के पास भेजे थे। कौंडल गांव की तरफ से जब उक्त दोनों ट्रैक्टर हथीन की ओर जा रहे थे तो एक पत्रकार के नजर पड गए। पत्रकार ने उन ट्रैक्टरों चालकों से पूछताछ की तो पता चला कि दोनों ट्रैक्टरों में लदे गेहूं के कटटे मथुरा के एक व्यापारी ने हथीन स्थित अनाज मंडी में एक आढ़ती के नाम पर्ची बनाकर भेजे थे। यूपी का गेहूं देख पत्रकार ने हथीन थाना पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलने पर हथीन थाना पुलिस पर मौके पर पहुंची और गहलब रोड फायर स्टेशन के निकट से दोनों ट्रैक्टरों को अपनी हिरासत में लेकर थाने ले आए। बताया जाता है कि दोनों ट्रैक्टरों चालकों के पास ना तो ट्रैक्टर के कागजात थे और ना ही ड्राईविंग लाईसैंस। बताया जाता है कि हथीन के उक्त आढति ने दोनों ट्रैक्टरों को छुडाने के लिए मार्किट कमेटी के सचिव से कथित रूप से सेटिंग कर ली। जिसके चलते सचिव ने उक्त 405 गेहूं के कटटों पर जुर्माना और मार्किट फीस लगाकर स्वंय हथीन थाने में जाकर दोनों ट्रैक्टरों को छुडवाकर आढति को सुपुर्द कर दिया।

जब ट्रैक्टर छुडवाने की प्रक्रिया थाने में चल रही थी, उसी समय अचानक संवाददाता भी मौके पर पहुंच गया और सचिव से जुर्माना और फीस के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता, ज्यादा से ज्यादा जुर्माना लगा दिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि अब पत्रकारों का काम गेहूं पकडवाने का ही रह गया है क्या ? सचिव के बोलने का व्यवहार उस समय देखते ही बन रहा था। जो उनका व्यवहार था, उससे उनकी कार्यप्रणाली पर प्रश्र चिन्ह लगना स्वभाविक है। ऐसा लगता है कि यूपी से जो गेहूं की आवक हो रही है, उसमें कथित रूप से यह बढावा दे रहे हैं। जबकि वहीं उच्च अधिकारियों से यह पता चला है कि जब उक्त
दोनों ट्रैक्टर हथीन अनाज मंडी में आए ही नहीं तो सचिव ने कैसे उनकी मार्किट फीस काट दी और कैसे जुर्माना लगा दिया। क्योंकि दोनों ट्रैक्टरों को ऑन
रोड पकडा गया था। ऐसी स्थिति में पुलिस कार्यवाही होनी थी। क्योंकि सरकार ने यूपी के गेहूं की खरीद पर हरियाणा में प्रतिबंध लगाया हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here