फरीदाबाद के वार्ड न. 32 के पार्षद धनेश अदलक्खा पर हुआ फर्जीवाड़े का मामला दर्ज

पारिवारिक रिश्तेदार निर्मला अदलक्खा ने किया कोर्ट केस

0
60
न्यूज़ एनसीआर, 07 मार्च-फरीदाबाद | ग्रामीण को-ऑपरेटिव बैंक सोसायटी के चेयरमैन एवं वार्ड न. 32 के पार्षद तथा नगर निगम की वित्त कमेटी में सलाहकार धनेश अदलक्खा और उनकी माता पूर्व पार्षद द्रौपदी अदलक्खा के ऊपर जमीन की लीज को लेकर कोर्ट के आदेश पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। यह मामला उन्ही के पारिवारिक रिश्तेदार निर्मला अदलक्खा ने कोर्ट के आदेश पर दर्ज करवाया है।
गौरतलब है की 1986 में पीड़ित निर्मला अदलक्खा ने धनेश अदलक्खा और उनकी माता द्रौपदी अदलक्खा को 15 साल के लिए अपनी ज़मीन गैस एजेंसी के लिए लीज पर दी थी। आरोप है की फर्जी कागजातों के बल पर धनेश अदलक्खा और उनकी माता ने बिना उनकी जानकारी के एग्रीमेंट को मिलीभगत से रिन्यू करवा लिया। जिसके बाद आरटीआई के माध्यम से उन्हें इस धोखाधड़ी का पता चला लेकिन पुलिस ने उनकी नहीं सुनी तो उन्हें कोर्ट की शरण लेनी पड़ी।
75 वर्षीय बुजुर्ग दम्पति बी.आर. अदलक्खा और निर्मला अदलक्खा जिसने अपने रिश्तेदार ग्रामीण को-ऑपरेटिव बैंक सोसायटी के चेयरमैन एवं वार्ड न. 32 के पार्षद तथा नगर निगम की वित्त कमेटी में सलाहकार धनेश अदलक्खा और उनकी माता पूर्व पार्षद द्रौपदी अदलक्खा ने धोखा किया है। मामले की जानकारी देते हुए पीड़ित दम्पति ने बताया की कई दशक पहले उन्होंने फरीदाबाद के सीही गांव में ज़मीन खरीदी थी जिसे उन्होंने अपने रिश्तेदार धनेश अदलक्खा और उनकी माता द्रोपती अदलक्खा को 1986 में गैस एजेंसी के लिए 15 साल की लीज पर दिया था लेकिन उन्होंने उन्हें बिना बताये फर्जी कागजातों के बल पर एग्रीमेंट लीज को रिन्यू करवाया और इसकी भनक उन्हें नहीं लगने दी। बाद में उन्होंने आरटीआई लगाकर जवाब माँगा तो उनके होश उड़ गए क्योंकि उनकी जानकारी के बिना उनकी ज़मीन एग्रीमेंट को रिन्यू करवाया गया था। जिसे उन्होंने कभी किया ही नहीं था बल्कि वह पिछले लम्बे समय से उन्हें ज़मीन खाली करने को कह रहे थे लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई और न ही कोई जवाब दिया गया। अब आखिरकार जब पुलिस ने उनकी नहीं सुनी तो उन्हें कोर्ट की शरण लेनी पड़ी। कोर्ट के आदेश के बाद चेयरमैन धनेश अदलखा और उनकी माता के खिलाफ धारा 420, 467, 468, 471, 120 बी के तहत मामला दर्ज किया गया है।
इस मामले में पुलिस कमिश्नर के पीआरओ सूबे सिंह ने बताया की कोर्ट के आदेश पर चेयरमैन धनेश अदलखा और उनकी माता द्रोपती अदलखा के खिलाफ फर्जी डाकुमेंट इकरारनामा बनाने का मामला दर्ज किया गया है और यह मामला पीड़ित निर्मला अदलखा की शिकायत पर दर्ज किया गया है जिसकी जांच करने के बाद पुलिस अगली कार्यवाही अम्ल में लाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here