साबूल अंसारी के आत्महत्या करने पर एनएसयूआई ने सरकार के खिलाफ जताया रोष

0
63

न्यूज़ एनसीआर, 15 मार्च-फरीदाबाद | हरियाणा के श्रीराम मुलख कॉलेज में साबूल अंसारी नाम के छात्र के आत्महत्या करने के मामले में एनएसयूआई ने सेक्टर 16 ए स्थित पंडित जवाहर लाल नेहरू कॉलेज के बार प्रदर्शन बीजेपी सरकार का पूतला फूंका। प्रदर्शन का नेतृत्व एनएसयूआई से कॉलेज प्रेसिडेंट सन्नी बादल द्वारा किया गया।

मौके पर सन्नी बादल ने कहा कि साबूल अंसारी पर कॉलेज प्रशासन ने होस्टल लेट आने की वजह से भारी भरकम जुर्माना लगाया था। छात्र जुर्माना भरने में असमर्थ था और उसने आत्महत्या कर ली। अनेकों प्राइवेट कॉलेज पैसे कमाने के लिए उल्टा – सीधा जुर्माना लगा कर बच्चों को मानसिक तौर पर प्रताड़ित करने का काम कर रहे है। गरीब घर से होने के कारण साबूल इस जुर्माने का बोझ सहन नहीं कर सका और जुर्माने के जगह उसने अपनी जान दे दी। हमारे देश की शिक्षा प्रणाली इतनी कमजोर हो गई है कि इस तरह के अतिरिक्त बोझ के कारण मेधावी छात्र को अपनी जान देनी पड़ी। सन्नी बादल ने कहा कि इन गैर सरकारी कॉलेजों को इस तरह मनमानी करने की इजाजत सरकार क्यों दे रही है, यह एक बड़ा सवाल है।

सन्नी के अनुसार श्रीराम मुलख कॉलेज में क्लास व होस्टल में लेट आने से लेकर नॉनवेज खाने तक पर 500 रुपये से लेकर 80 हजार तक का जुर्माना लगाया जाता है। जुर्माना देने वाले छात्रों पर और अधिक जुर्माना ठोक दिया जाता है। मोबाइल छीन लिए जाते हैं और परीक्षा देने सभी मना कर दिया जाता है। कॉलेज के खिलाफ अवाज उठाने वाले छात्रों के खिलाफ पुलिस में मामले दर्ज कराए जा रहे हैं। सन्नी बादल का आरोप है कि यह कोई आत्महत्या नहीं है, बल्कि खून है। बीजेपी सरकार के शासन काल में छात्रों का खूब शोषण हो रहा है। जहां एक तरफ युवा बेरोजगार भटक रहने हैं, वहीं सरकार की शह पाकर इस तरह के प्राइवेट कॉलेज छात्रों को आत्महत्या करने पर मजबूर कर रहे हैं। बीजेपी सरकार पूरी तरह से छात्र विरोधी है। हम सरकार से मांग करते है कि सरकार प्रदेश के सभी प्राइवेट कॉलेजो में इस तरह के उतपीड़न बंद कराए। मौके पर जीतू जाखड़, सुमित, सीटू, राज, बल्ली आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here