पुलिस मुठभेड में मारा गया हरिया गैंग का बदमाश अरुण

0
83

न्यूज़ एनसीआर, 08 फरवरी-फरीदाबाद | बुधवार की रात को पुलिस उपायुक्त क्राइम के नेतृृत्व में कार्य करते हुए क्राईम ब्रांच 65 प्रभारी व एसएचओ तिगांव निरीक्षक वरुण दहिया और उसकी टीम ने सूत्रों से मिली सूचना पर हरिया और उनके अन्य साथियों को पकडने के लिए पिछा करते हुए थाना छायंसा के एरिया में पुलिस पार्टी पर आरोपियों द्वारा फायरिंग करने पर जवाबी कार्यवाही में हरिया का साथी अरुण पुत्र मेहर चंद निवासी भैंसरावली थाना तिगांव पुलिस मुठभेड में मार गिराने में सफलता हासिल की।

आपको बताते चले की आतंक का पयार्य बन चुके हरिया और अरुण व अन्य साथी पछले करीब 4-5 साल से फरीदाबाद में करीब-करीब 9 वारदात को अंजाम दे चुके थे। हरिया हरियाणा व यूपी में करीब 32 वारदात को अंजाम दे चुका है। जिसमें से 14 गौतम बुद्व नगर, 10 बुलंदशहर और 2 ग्रैटर नोएडा में लूट, डकैती, मर्डर की वारदातों के केस दर्ज हैं।

पुलिस महानिदेशक हरियाणा की तरफ से हरिया पर 25000 रु का ईनाम घोषित किया हुआ था। हरिया और उसके साथी थाना तिगांव व छायंसा के एरिया में लूट, छीनाझपटी, रंगदारी और मर्डर के कई मुकदमें दर्ज हैं। हरिया और उसके साथी अक्सर फरीदाबाद में वारदात करके यूपी भाग जाते थे। जिसकी फरीदाबाद पुलिस को काफी दिनों से तलाश थी।

एसएचओ तिगांव ने बताया कि उन्हे सूचना मिली थी कि हरिया पुत्र देंवेद्र गावं भैंसरावली थाना तिगांव व उसी के गावं का साथी अरुण पुत्र मेहर चंद व उनके 2 अन्य साथी सफेद रंग की ब्रेजा कार में इलाका थाना छायंसा के एरिया मेें घुम रहें है, वो किसी वारदात को अंजाम दे सकते है। विशेष सूत्रों से मिली सूचना के आधार पर कंट्रोल रुम, क्राईम ब्रांच व उच्च अधिकारियों को सूचित कर इलाका थाना छायंसा के एरिया में हरिया व उसके साथियों की धर पकड के लिए तलाश की गई।

हरिया व उसके साथियों की धर पकड के लिए एसएचओ तिगांव, अन्य क्राईम ब्राचं के द्वारा थाना छायंसा के एरिया में हरिया व उसके साथियों की घेराबंदी के दौरान पनहेडा खुर्द पेट्रोल पम्प के पास सफेद रंग की ब्रेजा में सवार हरिया व उसके साथियों का पुलिस टीम के साथ आमना सामना हुआ जिसमें हरिया व उसके साथियों ने पुलिस टीम को देखते ही एसएचओ तिगांव की सरकारी गाडी टाटा सूमों पर फायरिंग की गई थी। जवाबी कार्यवाही में पुलिस टीम ने भी फायर किए। हरिया व उसके साथी फायर करते हुए गांव अरुआ की तरफ चले गए। गावं अरुआ के पास उन्होने पुलिस टीम पर फिर से फायर किए। पुलिस द्वारा की गई फायरिंग के बाद एक बदमाश मारा गया। हरिया व उसके अन्य साथी ब्रेज़ा गाडी को छोडकर अंधेरे का फायदा उठाते हुए फरार हो गए।

ब्रेजा गाडी को चैक करने पर पाया कि मारा गया बदमाश अरुण पुत्र मेहर चंद निवासी भैंसरावली थाना तिगांव है। पुलिस रिकार्ड के अनुसार अरुण जो कि हरिया के साथ तकरीबन हर वारदात में संलिप्तता पाई गई है पर थाना तिगांव, भूपानी, हसनपुर, पलवल, नीमराणा राजस्थान इत्यादि में लूट, छीनाझपठी डकैती, मर्डर इत्यादि के वारदातों में 9 से अधिक केस दर्ज हैं।

मुठभेड में मारे गऐ बदमाश अरुण का पोस्टमार्टम एसीपी तिगांव बलबीर सिंह के नेतृत्व में सरकारी अस्पताल बी.के में डा0 के बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम करके मृतक बदमाश की लाश को मृतक के परिवार के हवाले किया गया।

हरिया व अन्य बदमाश इलाका थाना छायंसा के एरिया में यूपी से लुटी हुई ब्रेजा गाडी छोडकर अंधेरे का फायदा उठाते हुए फरार हो गए जिनकी तलाश जारी है। लुटी हुई ब्रेजा कार व भारी मात्रा में असला बरामद किया गया।

अब से पहले दिनांक 25.12.99 को थाना सूरजकुंड के एरिया लक्कडपुर गांव में कुख्यात बदमाश सत्ते का एन्काउटर किया गया था। जिसमें मुठभेड के दौरान फरीदाबाद पुलिस का एक सिपाही लश्कर सिंह शहीद हो गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here