डीएवी कॉलेज – गीता प्रीमियर लीग के दूसरे दिन छाया नुक्कड़ नाटक का जादू

0
69

न्यूज़ एनसीआर, 23 फरवरी-फरीदाबाद | एनएच तीन स्थित डीएवी शताब्दी कॉलेज में चल रहे तीन दिवसीय गीता प्रीमियर लीग के दूसरे दिन भी छात्रों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं में दमखम दिखाया। लीग का शुभारंभ 22 फरवरी को हुआ था। इसके बाद प्रदेश के सीएम ने ट्विट्टर के माध्यम से प्राचार्य व उनकी समस्त टीम को गीता प्रीमियर लीग आयोजित करने की बधाई दी।

कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सतीश अहूजा ने कहा – “मुख्यमंत्री महोदय द्वारा प्रोत्साहन मिलना कॉलेज के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। डी.ए.वी आगे भी इस प्रकार की गतिविधियां कराता रहेगा जिससे हमारी संस्कृति व संस्कारों को बढ़ावा मिले”। कार्यक्रम की संयोजिका डॉ. सुनीति अहूजा ने भी मुख्यमंत्री महोदय से मिले उत्साहवर्धन एवं शुुभकामनाओं के लिए उनका हार्दिक आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा – “कॉलेज आगे भी इसी प्रकार के कार्यक्रम आयोजित करके भावी युवा पीढ़ी को गीता के ज्ञान से अवगत कराने का प्रयास करता रहेगा।”

प्रस्तुत किए गए कार्यक्रम

‘द फैस्ट ऑफ लाइफ’ के दूसरे दिन के कार्यक्रम में स्लैम पोएट्री, पोस्टर प्रतियोगिता, नृत्यान्तर (ग्रुप डांस), गूंज (नुक्कड़ नाटक) और क्लेयरवॉयन्स (लघु फ़िल्म) का आयोजन किया गया।

स्लैम पोएट्री प्रतियोगिता में विभिन्न कॉलेज के 43 प्रतिभागियों ने भाग लिया जिसमे से स्क्रीनिंग करने के पश्चात 20 प्रतिभागियों को चयनित किया गया।

ग्रुप डांस में 25 टीमों की स्क्रीनिंग के बाद 15 प्रतिभागियों को परफॉरमेंस के लिए चुना गया। इनमे दिल्ली विश्विद्यालय के सत्यवती कॉलेज और ए.आर.एस.डी कॉलेज भी शामिल थे।

गूंज – नुक्कड़ नाटक प्रतियोगिता में डीएवी की टीम के नाटक का शीर्षक था ‘धरती बांटी सागर बांटा मत बांटो इंसान को’। मुख्य रूप से केएल मेहता दयानन्द कॉलेज एवं ए.आर.एस.डी कॉलेज की प्रस्तुति को दर्शकों ने काफी सराहा। ARSD की टीम रंगायन ने ‘सरनेम’ नाटक में दर्शाया के किस तरह हम परिवार के लिए पिता का योगदान और बलिदान अक्सर नज़रअंदाज़ कर देते हैं पर हर पिता को अपने हर बच्चे की सब बातें हमेशा याद रहती हैं। नाटक के अंत तक दर्शक काफी भावविभोर हो गए थे।
क्लेयरवॉयन्स (लघु फ़िल्म) प्रतियोगिता में भी दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रस्तुतियां प्रशंसनीय रहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here