धार्मिक स्थलों पर तिरंगा फहराकर फरीदाबाद वासियों ने पूरे देश में की मिसाल कायम – अमन गोयल

0
67

न्यूज़ एनसीआर, 26 जनवरी-फरीदाबाद | देशभर में गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया गया लेकिन फरीदाबाद में गणतंत्र दिवस का उत्साह अलग ही देखने को मिला। फरीदाबाद में स्कूल और सरकारी संस्थानों के साथ साथ मंदिर, मस्जिद, गुरूद्वारों और चर्च में भी तिंरगा फहराया गया। धार्मिक स्थानों पर तिरंगा फहराने की कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल की मुहिम का असर उनके विधानसभा क्षेत्र में साफ दिखाई दिया जहां सभी धर्म के लोगों ने संदेश दिया कि उनके लिए राष्ट्र धर्म सबसे बड़ा धर्म है। मस्जिद में तिरंगे भारत माता का जयकारा, गुरूद्वारे में भी राष्ट्र प्रथम का संदेश और मंदिरों में शान से लहराता तिरंगा, गणतंत्र दिवस के नजारों के जरिए बाबा फरीद की नगरी फरीदाबाद ने राष्ट्रीयता का ऐसा संदेश दिया है जो पूरे देश के लिए मिसाल साबित हो सकता है।

उद्योग मंत्री विपुल गोयल के भतीजे और बीजेपी नेता अमन गोयल ने एनआईटी फरीदाबाद के हनुमान मंदिर, सेक्टर 11 के गुरूद्वारे और सेक्टर 19 की मस्जिद में सभी धर्मों के लोगों के साथ तिरंगा लहराया। उन्होने कहा कि धार्मिक स्थलों पर इतनी बड़ी संख्या में तिरंगा फहराकर फरीदाबाद वासियों ने पूरे देश में राष्ट्रवाद की मिसाल पेश की है। उन्होने कहा कि आतंकवाद, जातिवाद, भ्रष्टाचार, गरीबी और गंदगी मुक्त भारत के निर्माण के लिए राष्ट्र प्रथम की भावना का प्रचार बेहद जरूरी है।

उन्होने कहा कि तिंरगे के तीन रंगों से प्रेरणा लेते हुए हमें शहीदों के सपनों का भारत बनाना होगा। वहीं अंजुमन इस्लामिया के प्रधान हाजी वकील अहमद ने कहा कि देश ही सबसे बड़ा धर्म है ,ये पैगाम देते हुए फरीदाबाद के मुसलमानों ने भी मस्जिद में तिरंगा लहराया है और हिंदुस्तान की तरक्की के लिए सभी मजहब में एकता जरूरी है। वहीं गुरूद्वारों में भी तिरंगे को सलामी देकर सिख समुदाय ने कहा कि गुरू गोविंद सिंह ने सिखाया है कि देश सबसे बड़ा है, इसीलिए हम विपुल गोयल की मुहिम के साथ हैं। वहीं कई स्थानों पर सभी धर्म के लोगों ने एक साथ गणतंत्र दिवस मनाया और अपने नागरिक कर्तव्य निभाने का संकल्प लिया। फरीदाबाद की तरह देश का शायद ही देश का कोई ऐसा शहर हो, जिसमें एक साथ धार्मिक स्थानों पर अपनी मर्जी से सभी धर्मों के लोगों ने धर्म की पताका के साथ राष्ट्रीय ध्वज लहराया है और संकल्प लिया है कि धर्म और जाति से ऊपर उठकर, तिरंगे के तीन रंगों से प्रेरणा लेकर, सभी नए भारत का निर्माण करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here