महिला मोर्चा ने धूमधाम से मनाया अटल बिहारी वाजपेयी व पं. मदन मोहन मालवीय का जन्मदिन

0
72
न्यूज़ एनसीआर, 26 दिसम्बर-फरीदाबाद | भाजपा महिला मोर्चा की टीम ने तिरंगा पार्क, सैक्टर-55 में पं. मदन मोहन मालवीय जी एवं अटल बिहारी जी का 93वां जन्मदिवस बड़े धूमधाम से मनाया। इस मौके पर मुख्य रूप से विधायिका श्रीमती सीमा त्रिखा, जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा, मीरा तौमर सहित जिलाध्यक्ष महिला मोर्चा विशेष रूप से उपस्थित थी। कार्यक्रम का आयोजन जिला उपाध्यक्ष महिला मोर्चा श्रीमती ममता रविन्द्र राघव द्वारा किया गया।
कार्यक्रम में अटल बिहारी जी के 93वें जन्मदिवस के उपलक्ष्य में 93 दीपक जलाए गए। इसके बाद विधिवत रूप से तुलसी पूजन किया गया। अनीता शर्मा ने इस मौके पर तुलसी पूजन की विधि एवं महत्व के बारे में बताया। तुलसी सम्पूर्ण धरा के लिए वरदान है, अत्यंत उपयोगी औषधि है, मात्र इतना ही नहीं, यह तो मानव जीवन के लिए अमृत है। यह केवल शरीर स्वास्थ्य की दृष्टि से ही नहीं, अपितु धार्मिक, आध्यात्मिक, पर्यावरणीय एवं वैज्ञानिक आदि विभिन्न दृष्टियों से भी बहुत महत्वपूर्ण है।
कार्यक्रम में अनीता शर्मा ने पं. मदन मोहन मालवीय एवं पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के जीवन का गुणगान करते हुए कहा कि महामना मदन मोहन मालवीय काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के प्रणेता तो थे ही इस युग के आदर्श पुरुष भी थे।
कार्यक्रम की आयोजक श्रीमती ममता राघव ने इस अवसर पर पूर्व प्रधानमंत्री श्री वाजपेयी जी का जीवन वृतांत बताते हुए कहा कि वो 16 मई से 1 जून 1996 तथा फिर 19 मार्च 1998 से 22 मई 2004 तक भारत के प्रधानमंत्री रहे। वे हिन्दी कवि, पत्रकार व प्रखर वक्ता भी हैं। वो भारतीय जनसंघ की स्थापना करने वाले महापुरुषों में से एक हैं और 1968 से 1973 तक उसके अध्यक्ष भी रहे।
इस मौके पर महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष अनीता शर्मा एवं उपाध्यक्ष ममता राघव ने आए हुए सभी अतिथियों का धन्यवाद किया और विधिवत तूलसी पूजन करते हुए कहा कि हमारी संस्कृति ही हमारी धरोहर है और इसे संजोकर रखना हमारा कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार बॉर्डर पर हमारी सेना हमारी रक्षा करती है, उसी प्रकार देश की संस्कृति को बचाकर रखना भी हमारा कर्तव्य है।
इस अवसर पर रेखा नैन, प्रियंका कक्कड़, राजबाला सरदाना, चित्रा शर्मा, बिन्दू गौड, गीता शर्मा, मनीषा सिंह, मीना शर्मा, रेखा चित्रा, सुनीता बघेल, रश्मि एडवोकेट, अनीता राघव आदि विशेष रूप से उपस्थित थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here