निगम प्रशासन ने मृतक परिवारों के आश्रितों को आउटसोर्सिंग में सफाई कर्मचारी के पद पर की नियुक्ति

0
90

न्यूज़ एनसीआर, 25 अक्टूबर-फरीदाबाद | विगत 29 मार्च को बाईपास रोड सेक्टर-31 पर डिस्पोजल सफाई करते हुए गैस लगने से अतर सिंह, राहुल व संतोष की मृत्यु के बाद नगर पालिका कर्मचारी संघ हरियाणा द्वारा किए गए आंदोलन के बाद निगम प्रशासन से हुए समझौते के अनुरूप निगम प्रशासन ने मृतक परिवारों के आश्रितों को आउटसोर्सिंग में सफाई कर्मचारी के पद पर नियुक्ति प्रदान कर दी है। इस घटना के बाद मुख्यमंत्री द्वारा मृतक परिवारों को 10-10 लाख रूप्ये देने की घोषणा को फलीभूत करने के लिए निगम प्रशासन द्वारा मृतक परिवारों को 10-10 लाख देने का केस बनाकर सरकार को भेज दिया है तथा मृतकों की विधवा सुनीता पत्नी अतर सिंह, बॉबी पत्नी राहुल को पांच-पांच हजार रूपये पेंशन देने व नौकरी को नियमित करने का भी केस बनाकर निगम प्रशासन द्वारा सरकार को भेज दिया गया है। यह जानकारी देते हुए नगर-पालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के राज्य प्रधान नरेेेश कुमार शास़्त्री ने बताया कि आज मुख्य अभियन्ता डी.आर. भास्कर के कक्ष में आज बॉबी पत्नी राहुल, सुनीता पत्नी अतर सिंह, सुरजीत पुत्र अतर सिंह, सबिता पत्नी नौबत सिंह को आउटसोर्सिंग में सफाई कर्मचारी के पद पर नियुक्ति पत्र दे दिए गए है।

इस अवसर पर नगर पालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री के अलावा राज्य सचिव सुनील चिंडालिया, संघ के जिला सचिव नानकचंद खैरालिया, वरिष्ठ उपप्रधान गुरचरण खांड़िया, सफाई कमचारी के प्रधान बलबीर बालगुहैर, सचिव सोमपाल झिंझोटिया, रघुवीर चौटाला, सीवरमैन यूनियन के प्रधान सुभाष फेंटमार, सचिव राजू मंढोतिया, सतपाल मेंढ़वाल, वॉटर सप्लाई यूनियन के प्रधान रामकिषोर त्यागी आदि नेता उपस्थित थे।

संघ के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री ने बताया कि सुप्रिम कोर्ट के आदेशानुसार मृतक परिवारों को 10-10 लाख रुपए का चैक पहले ही निगम द्वारा दिया जा चुका है। इस घटना के बाद निगम प्रशासन द्वारा सीवर में मारे गए कर्मचारियों के आश्रितों को नौकरी व समझौते के अनुसार अन्य लाभ देने में ढिलाई बरत रहे थे जिस पर संघ द्वारा मण्डला आयुक्त डी. सुरेष को गुहार लगाई गई थी। मण्डलायुक्त महोदय ने कार्यवाही करते हुए 12 अक्टूबर को मृतक परिवारों और अधिकारियों को अपने कार्यालय में तलब किया और आदेश दिए कि सीवर हादसे में मारे गए परिवारों को तुरंत प्रभाव से नौकरी प्रदान की जाए और नियमित नौकरी देने का प्रस्ताव व सरकार द्वारा की गई घोषणा के अनुरूप 10-10 लाख रूप्ये देने व मृतकों की विधवाओं को पांच-पांच हजार रूप्ये पेंशन देने का प्रस्ताव मंजूरी हेतू तुरंत प्रभाव से सरकार को भेजा जाए। निगम प्रशासन द्वारा इस पर तत्परता से कार्यवाही करते हुए सभी प्रस्ताव सरकार को भेज दिए गए है और मृतकों के आश्रितों को फौरी तौर पर आउटसोर्सिंग में सफाई कर्मचारियों के पद पर नियुक्ति कर दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here