विनम्र श्रद्धांजलि: 5 स्टार रैंक प्राप्त मार्शल अर्जन सिंह अब हमारे बीच नही रहे

0
145

न्यूज़ एनसीआर, 16 सितंबर-दिल्ली | देश के बहादुर सिपाही भारतीय वायु सेना के 5 स्टार रैंक प्राप्त मार्शल अर्जन सिंह हमारे बीच नहीं रहे। शनिवार को दिल का दौरा पड़ने के कारण उनका निधन हो गया। वह 98 साल के थे और पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे। दिल्ली स्थित आर्मी हॉस्पिटल रिसर्च एंड रेफरल में उन्होंने आखिरी सांस ली।

पाकिस्तान स्थित पंजाब के लायलपुर में 15 अप्रैल 1919 को जन्मे अर्जन सिंह अपने करियर में अजेय रहे। उन्होंने 15 अगस्त 1947 को सौ से भी अधिक विमानों के साथ लाल किले के ऊपर से फ्लाई पास्ट का नेतृत्व किया, 45 साल की उम्र में वायुसेना प्रमुख बने। उनका जीवन उपलब्धियों से भरा रहा। यही वजह है कि सन 2002 में 85 वर्ष की आयु में उन्हें मार्शल ऑफ एयरफोर्स के सम्मान से नवाजा गया था।

पद्म विभूषण से सम्मानित भारतीय वायुसेना के मार्शल अर्जन सिंह एक मात्र ऐसे ऑफिसर हैं जिन्हें फाइव स्टार रैंक दी गई थी। फाइव स्टार रैंक फील्ड मार्शल के बराबर होती है

1944 में जापान के खिलाफ एक स्क्वैड्रन का किया था नेतृत्व


मार्शल ने अराकान अभियान के दौरान 1944 में जापान के खिलाफ एक स्क्वैड्रन का नेतृत्व किया था, इम्फाल अभियान के दौरान हवाई अभियान को अंजाम दिया और बाद में यांगून में अलायड फोर्सेज का काफी सहयोग किया।

उनके इस योगदान के लिए दक्षिण पूर्व एशिया के सुप्रीम अलायड कमांडर ने उन्हें विशिष्ट फ्लाइंग क्रास से सम्मानित किया था और वह इसे प्राप्त करने वाले पहले पायलट थे। सिंह 1938 में रॉयल एयर फोर्स के एम्पायर पायलट प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के लिए चुने गए थे। उस समय उनकी उम्र 19 वर्ष थी। वह 1969 में सेवानिवृत्त हुए।

प्रधानमंत्री ने दुख जताते हुए ट्वीट किया


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय वायु सेना के मार्शल अर्जन सिंह का हालचाल जानने अस्पताल पहुंचे थे।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा, 1965 की जंग में एयर मार्शल अर्जन सिंह की शानदार नेतृत्व को भारत कभी नहीं भूलेगा। ये वो मौका था जब IAF ने अपना मजबूत इरादे दिखाए।

पीएम मोदी ने एक वाक्या याद करते हुए कहा


कुछ समय पहले मैंने उनसे मुलाकात की थी और खराब सेहत के बावजूद उन्होंने सलामी देने के लिए खड़े होने का प्रयास किया जबकि मैंने मना किया था, उनका इस तरह का सैनिकों वाला अनुशासन था। पीएम ने कहा कि उनके परिवार और उन सभी लोगों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं जो अतिविशिष्ट वायु सैन्य योद्धा और बेहतरीन इंसान अर्जन सिंह के निधन पर शोकाकुल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here