पत्रकार गौरी लंकेश हत्याकांड जांच के लिए एसआईटी गठित

0
107

न्यूज़ एनसीआ, 06 सितम्बर-बेंगलुरु | वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की बेंगलुरु में मंगलवार को हत्या कर दी थी। जानकारी के अनुसार पुलिस को घटनास्थल से सीसीटीवी फुटेज मिली है जिसमे हत्यारों के बारे में अहम् सुराग हाथ लगे है। इस मामले की जांच के लिए कर्नाटक सरकार ने एसआईटी गठित की है। जांच में जुटी पुलिस टीम को संदेह है की इस वारदात को अंजाम देने के लिए शूटर बुलाये गए थे। पुलिस के सूत्रों का कहना है कि जिस तरह हमलावरों ने गौरी लंकेश को फॉलो किया था उसे देख साफ है कि हत्या से पहले रेकी भी की गई थी। कन्नड़ पत्रकार और सोशल ऐक्टिविस्ट गौरी लंकेश को उनके राज राजेश्वरी नगर स्थित आवास पर गोली मारी गई थी।

गौरतलब है की गौरी लंकेश को 7 गोलियां मारी गई थीं। उनके शरीर पर 3 गोलियों के चोट के निशान मिले हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस ने घटनास्थल की सीसीटीवी फुटेज भी बरामद कर ली है। 55 साल की गौरी लंकेश को तब निशाना बनाया गया था, जब वह अपनी कार से उतरकर घर का दरवाजा खोल रही थीं। पड़ोसियों ने गौरी लंकेश को घर के पोर्च में गिरा पाया था। पुलिस अब हत्या की तफ्तीश में जुटी हुई है। शहर के पुलिस कमिश्नर टी सुनील कुमार का कहना है कि हमलावरों को पकड़ने के लिए पुलिस की 3 विशेष टीमें बनाई गई हैं।

कर्नाटक के गृह मंत्री रामलिंगा रेड्डी ने बताया कि वहां तीन सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। उनके फुटेज की जांच की जा रही है। पुलिस की 3 टीमें वारदात की छानबीन कर रही हैं। हालांकि बेंगलुरु पुलिस ने अभी हमलावरों की निश्चित संख्या नहीं बताई है लेकिन पड़ोसी 3 हमलावरों का अंदेशा जता रहे हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, गौरी के माथे पर तीन गोलियां दागी गईं और उनकी तत्काल मौत हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here