एनएसयूआई की एकतरफा जीत एबीवीपी के मुंह पर करारा तमाचा – कृष्ण अत्री

0
113

न्यूज़ एनसीआर,14 सितंबर-फरीदाबाद | दिल्ली विश्वविद्यालय में छात्र संघ चुनावों में एनएसयूआईने 2-2 से जीत हासिल की है।एनएसयूआई की जीत पर पं. जवाहर लाल नेहरू कॉलेज में एनएसयूआई फरीदाबाद ने जिलाध्यक्ष कृष्ण अत्री के नेतृत्व में ढोल बजाकर जश्र मनाया।एनएसयूआई छात्र नेताओं ने कॉलेज में मिठाई बांटकर जीत की एक दूसरे को बधाई दी।

एनएसयूआई फरीदाबाद के जिलाध्यक्ष कृष्ण अत्री ने बताया कि दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र संघ चुनावों में एनएसयूआई की ओर से अध्यक्षपद पर रॉकी तुसीद, उपाध्यक्ष कुनाल सहरावत की जीत हुई है।

जबकि संयुक्त सचिव अविनाश यादव व सचिव पद पर चुनाव लड़ रही मीनाक्षी मीना चुनाव नहीं जीत सके।हालांकि दोनों ने अपने प्रतिद्धंद्धियों कोकडी टक्कर दी।कृष्ण अत्री ने कहा कि सांसद दीपेन्द्र हुड्डा के मार्गदर्शन व एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान की मेहनतके आधार पर ही आज एनएसयूआई की बड़ी जीत हुई है।एनएसयूआई एक बार फिर दिल्ली विश्वविद्यालय में अपना परचम फहराने में कामयाब हुई है।कृष्ण अत्री ने एनएसयूआई की जीत पर विजयी प्रत्याशियों को बधाई दी और कहा कि एनएसयूआई की एकतरफा जीत एबीवीपी के मुंह पर करारा तमाचा है।छात्र देश का भविष्य होते हैं।उन्होंने यह जनाधार एनएसयूआई को देकर यह बता दिया है कि देश जुमलों से नहीं काम करने से चलता है।

इस अवसर पर मोहित त्यागी, अभिषेक वत्स, सुनील मिश्रा व नरेशराणा व विकास फागना व आकाश दीक्षित ने संयुक्त रूप से कहा कि एनएसयूआई की यह जीत दिल्ली विश्वविद्यालय के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में लिखी जाएगी।

एनएसयूआई को इतने अधिक वोटों से जीत दिलाकर छात्रों ने एबीवीपी को यह बता दिया है कि छात्र शक्ति कोअभी भी एनएसयूआई पर पूरा भरोसा है कि एनएसयूआई ही छात्रों केहितों का ध्यान रख सकती है।

यह  जनादेश इस बात संदेश है कि छात्रों को अभी भी एनएसयूआई पर पूरा भरोसा है। उनके द्वारा एनएसयूआई को भारी मतों से जिताना अपनेआप में इस बातका प्रमाण है कि छात्र के हितों के सही मुद्दे एनएसयूआई ही उठा सकती है।

इस मौके पर उत्तम गौड़, भूमित शर्मा, रोहित कबीरा, नितेशगौड़, आशीष सिंह, प्रदीप कुमार, हिमांशु, अंकुश, मोहित, लोकेश गौड़सहित अनेक एनएसयूआई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here