ब्रेकिंग न्यूज़: फरीदाबाद में तुरंत प्रभाव से धारा-144 लागू

0
195

न्यूज़ एनसीआर, 23 अगस्त-फरीदाबाद | जिलाधीश समीरपाल सरो ने आगामी 25 अगस्त 2017 को डेरा सच्चा सौदा सिरसा के प्रमुख बाबा गुरमीत राम रहीम सिंह के केस में सीबीआई न्यायालय पंचकूला द्वारा निर्णय लिए जाने के उपरांत जिले में कानून व्यवस्था बनाये रखने तथा किसी को जानमाल का नुकसान न हो धरा 144 लागो कर दी गई है। इस धरा के अन्तर्गत सार्वजनिक स्थानों एवं निजी भवनों के नजदीक के क्षेत्र में पांच या इससे अधिक व्यक्तियों के एक स्थान पर एकत्रित होने पर पाबंदी लगाने के आदेश तुरन्त प्रभाव से जारी किए हैं। समीरपाल सरो ने इस संबंध में जिले के 24 सक्षम एवं वरिष्ठ अधिकारियों को क्षेत्रवार बतौर ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त करने के भी आदेश जारी किए हैं।

आदेशों में कहा गया है कि पुलिस आयुक्त फरीदाबाद द्वारा जिलाधीश के संज्ञान में लाया गया है कि इस निर्णय के आने के उपरांत जिले में आमजन को दिनचर्या में बाधा, जानमाल की हानि, अशांति व रेलवे सम्पत्ति को नुकसान होने का अंदेशा है। अत: जिले में कानून व्यवस्था सुदृढ़ बनाए रखनी आवश्यक है।

समस्त जिले में विशेषत: रेलवे ट्रेकों, सडक़ों, सार्वजनिक स्थानों एवं निजी भवनों के नजदीक पांच या इससे अधिक लोगों के एकत्रित होने पर रोकथाम अनिवार्य है। इस पर समीरपाल सरों ने संतुष्टि जताई है कि जिले में वैधित कर्मचारियों, सरकारी अथवा गैर सरकारी सम्पत्ति, जानमाल तथा जनसाधारण को संभावित खतरे से बचाने के लिए निर्देश देना अनिवार्य है। जिलाधीश ने इस पर संज्ञान लेते हुए दण्ड प्रक्रिया संहिता 1976 की धारा-144 के तहत उन्हें प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए पूरे जिले में 22 अगस्त 2017 से स्थिति सामान्य होने तक यह आदेश लागू किए है।

आदेशों के अनुसार जिले में सभी रेलवे ट्रैकों, सडक़ों, सार्वजनिक स्थानों एवं निजी भवनों के नजदीक के क्षेत्र में पांच या इससे अधिक व्यक्तियों के एक जगह पर एकत्रित होने, निजी वॉकी-टॉकी सैटअप प्रयोग करने, किसी भी प्रकार के ज्वलनशील पदार्थ, लाठी-डण्डा व हथियार इत्यादि लेकर चलने पर पाबंदी रहेगी। यह आदेश पुलिस तथा अन्य सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों पर ड्यूटी वश तैनात रहने की वजह से लागू नहीं माने जाएगें। जिलाधीश श्री सरो द्वारा जारी इन आदेशों की जिले में अवहेलना करने पर यदि कोई व्यक्ति दोषी पाया जाता है तो वह भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अनुसार दण्ड का भागी होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here