स्वच्छ भारत अभियान को एनआईटी-5 नर्सरी बाग में लग रहा पलीता

0
182

न्यूज़एनसीआर, फरीदाबाद। एक तरफ पूरे देश-प्रदेश में स्वच्छ भारत अभियान को लेकर व्यापक अभियान चल रहा है वहीँ दूसरी तरफ फरीदाबाद नगर निगम की अनदेखी के कारण सरकारी सम्पति और अन्य चीजों को नुक्सान पहुँच रहा है। कुछ ऐसा ही हाल फरीदाबाद एनआईटी-5 स्थित नर्सरी बाग का भी है। जहाँ सरकारी नलकूप व जलघर में गंदगी के ढ़ेर और सरकारी सम्पति के होते हुए नुक्सान को साफ देखा जा सकता है। नलकूप पर स्थित कर्मचारी ने बताया की यहाँ फैली गंदगी के कारण अक्सर सांप निकाल आते हैं जिससे हमारी जान को भी ख़तरा बना रहता है। पानी का टैंक भी ढका न होने के कारण उसमें छिपकली, गिलहरी, मेंढक या छोटे जानवर गिरने का खतरा बना रहता हैं। इसके साथ ही बरसात का मौसम होने के कारण मच्छर पनपने की भी पूर्ण सम्भावना बनी हुई है। पानी के टैंक के ऊपर मिट्टी, झाड़ियाँ व ऊँची घास भी उग आई है, इसके अलावा लोग वहां पर शौच भी कर आते हैं।

वहीँ दूसरी तरफ वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम भी सूखा पड़ा है। जिसके एक सिरे पर ढक्कन है दूसरा खुला हुआ है। एक कर्मचारी ने ऑफ़-द-रिकॉर्ड बताया की इस वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम में पूरी बरसात का मौसम बीत जाने के बाद भी 10 लीटर पानी नहीं पहुँचता। इसके स्थान का चयन भी गलत हुआ है जिसके कारण इसमें पानी नहीं पहुंच पाता। इस तरह की कार्यशैली से केवल सरकारी सम्पति और पैसे का ही नुक्सान हो रहा है, जमीनी स्तर पर लोगों को इसका कोई लाभ नहीं हो रहा।

ट्रैक्टर ट्राली में पड़ी मिट्टी पर उग आएं हैं घास व पौधे

इसके साथ ही कूड़ा उठाने व अन्य कार्यों में प्रयोग किये जाने वाले उपकरणों की अनदेखी के कारण वह बेकार हो रहे हैं। कूड़े के ढ़ेर पर खड़ी ट्रैक्टर ट्राली में पड़ी मिट्टी पर घास व पौधे उग आएं हैं। नलकूप की खिड़किया भी टूटी हुई हैं, छत का प्लास्टर टूट-टूट कर गिर रहा है। मक्खी-मच्छरों से बचने के लिए कर्मचारी डी.डी.टी. का छिड़काव करके बैठे हुए हैं। अब देखने वाली बात यह है की अगर प्रशासन अपने ही विभाग में फैली गंदगी को दूर नहीं कर पाता तो शहर की सड़कें, गालियां, पार्क व अन्य सार्वजानिक स्थल कैसे स्वच्छ रह सकते हैं। इस तरह की अनदेखी व लापरवाही से स्वच्छ भारत अभियान के सपना का साकार होना असंभव ही लगता है।

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here