भ्रष्टाचार के विरुद्ध युवा आगाज़ संगठन व काँग्रेसी नेताओं ने सरकार का पुतला फूंक कर दर्ज कराया विरोध

0
86

फरीदाबाद। नगर निगम में व्याप्त भ्रष्टाचार को लेकर शहर में विरोध की लहर दौड़ गई है। एक तरफ शुक्रवार को अनशनकारी बाबा राम केवल ने अपनी जीभ में धातु की पिन डालकर 41वें दिन मौन धारण कर लिया और दूसरी तरफ आज शनिवार को युवा आगाज संगठन (हरियाणा) के पदाधिकारियों ने नीलम चौक से लेकर बी. के. चौक चौक तक हरियाणा सरकार की अर्थी निकाली व प्रशासन के विरोध में नारे लगाए। बी. के चौक पहुँचकर प्रदर्शनकारियों ने प्रदेश सरकार का पुतला फूंका और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। अर्थी जुलुस के साथ विरोध प्रदर्शन में कांग्रेसी नेता कुंवर ओ. पी. भाटी, युवा आगाज संगठन (हरियाणा) के कानूनी सलाहकार व प्रमुख समाज सेवी एडवोकेट राजेश तेवतिया, फरीदाबाद जिला अध्यक्ष अजय डागर, संगठन के प्रवक्ता अनुज भाटी, संयोजक जसवंत पंवार, आरटीआई एक्टिविस्ट वरुण शयोकंद, महेश, जीतू व राजीव नागर आदि शामिल थे।

प्रदर्शनकारियों ने निगम कमिशनर के दफ्तर पहुंचकर की जमकर नारेबाजी

बी. के. चौक पर सरकार का पुतला फूंकने के बाद सभी प्रदर्शनकारी नगर निगम कमिशनर सोनल गोयल के दफ्तर पहुंचे और वहां भी जमकर नारे बाजी की। उनका कहना था की फरीदाबाद नगर निगम में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ निगम मुख्यालय के गेट पर निगम के ही अधिकारी रत्नलाल रोहिल्ला व बाबा रामकेवल पिछले 42 दिन से अनशन पर बैठे हैं लेकिन न तो सरकार और न ही प्रशासन उनकी बात की सुनवाई कर रहा है। भ्रष्टाचार के विरुद्ध कडा रुख अपनाते हुए शुक्रवार को बाबा रामकेवल ने आमरण अनशन के छठे दिन अपनी जीभ को धातु पिन से भेदकर मौन धारण कर लिया। बावजूद इसके सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है। समाजसेवी व एडवोकेट राजेश तेवतिया ने कहा की हम निगम कमिश्नर से यह जानना चाहते है की उनकी तरफ से क्या कार्यवाही की गई है।

निगम कमिश्नर सोनल गोयल ने युवा आगाज़ संगठन के पदाधिकारिओं व कांग्रेसी नेता कुंवर ओ. पी. भाटी से कहा की हमने इस बाबत अपने स्तर पर सरकार को सूचित कर दिया है लेकिन अभी तक सरकार की तरफ से हमें कोई भी प्रतिउत्तर प्राप्त नहीं हुआ है। इसी बीच कांग्रेसी नेता कुंवर ओ.पी. भाटी ने कहा की भाजपा सरकार जिन मुद्दों को लेकर सत्ता में आई थी वह या तो उन मुद्दों को ही भूल चुकी है और या वह वादे ही खोखले थे। हम इस तरह से फरीदाबाद की जनता के साथ होते दुर्वव्हार व उपेक्षा को बर्दास्त नहीं कर सकते। अगर हमारी मांगे नहीं मानी गई तो बहुत जल्द यह विरोध प्रदर्शन एक विशाल रूप धारण कर लेगा जिसके लिए प्रदेश सरकार व प्रशासन खुद जिम्मेदार होगा। इस बीच निगम कमिश्नर सोनल गोयल ने मीडिया से मिलने से भी मना कर दिया।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here