रोहित शर्मा को श्रीलंका – दक्षिण अफ्रीका के दौरे से पहले आराम करने का निर्णय सही : विराट कोहली

0
60

बर्मिंघम | भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि आगामी श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका सीरीज के लिये रोहित को आराम दिया जाना जरूरी है। विराट ने कहा कि रोहित को वेस्टइंडीज दौरे में आराम दिये जाने का निर्णय समझदारी भरा फैसला है ताकि हाल में कूल्हे की चोट से उभरे ओपनर की फिटनेस पर ध्यान दिया जा सके। भारतीय टीम आईसीसी चैंपियंस ट्राफी के फाइनल में रविवार को पाकिस्तान से भिड़ेगा और उसके बाद टीम इंग्लैंड से ही सीधे वेस्टइंडीज के दौरे पर रवाना हो जायेगी। भारत और वेस्टइंडीज के बीच पांच वनडे और एकमात्र ट्वंटी मैच खेला जाना है। विराट ने कहा कि रोहित को कैरेबियाई दौरे से बाहर रखे जाने से श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस वर्ष होने वाले आगामी दौरों के लिये उनकी फिटनेस को बनाये रखने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि रोहित ने चोट से वापसी करते हुये पूरा आईपीएल सत्र खेला है और वह काफी थकाने वाला रहा। उनकी टीम मुंबई इंडियन फाइनल तक पहुंची और खिताब भी जीता था। इसके अलावा उनकी बड़ी सर्जरी हुई है और मांसपेशियों में हमेशा खिंचाव का डर बना रहता है। वहीं सेमीफाइनल मैच में भी उन्हें घुटने में कुछ दर्द महसूस हुआ। रोहित बंगलादेश के खिलाफ सेमीफाइनल में शतकीय पारी खेलकर मैन आफ द मैच रहे। वह इस समय अच्छी फार्म में भी हैं। कप्तान ने कहा” इस बात में कोई दो राय नहीं है कि वह टीम के बड़े खिलाड़ी हैं और जरूरी है कि हम उन्हें आगे के लिये सही रखें। हमें वर्ष के बाकी सत्र में काफी बड़ी सीरीज खेलनी हैं और उनकी टीम में जरूरत रहेगी। विराट ने कहा” हम चाहते हैं कि वह अभी बड़ी सर्जरी से आये हैं तो अपना ध्यान रखें। यदि आप इस समय खुद पर ज्यादा दबाव डालेंगे तो अगले सातआठ महीनों के लिये ही बाहर हो जाएंगे। टीम में सभी ने मिलकर यह निर्णय लिया है कि उन्हें आराम दिया जाए। वह इस समय अच्छी फार्म में हैं और वह खुद भी इस स्थिति के बारे में समझते हैं।रोहित को गत वर्ष अक्टूबर में न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलू वनडे सीरीज में चोट लगी थी और इस कारण वह इंग्लैंडबंगलादेश और आस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज से बाहर रहे थे। लेकिन उन्होंने फिर मुंबई के लिये आईपीएल में  वापसी कर उसके खिताब दिलाया और चैंपियंस ट्राफी का हिस्सा बने। सलामी बल्लेबाज ने बंगलादेश के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में 129 गेंदों में नाबाद 123 रन बनाते हुये भारत को फाइनल में आसानी से पहुंचाने में योगदान दिया और मैन ऑफ द मैच बने। वह चैंपियंस ट्राफी में 87.60 के स्ट्राइक रेट से 304 रन बनाकर दूसरे सर्वश्रेष्ठ स्कोरर भी बने हुये हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here