नाट्य एवं कला महोत्सव के पांचवे दिन “देशी कलाकार” के रंग में रंगा फरीदाबाद

0
359

फरीदबाद। हरियाणा स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में हरियाणा कला परिषद व ब्रज नट मंडली द्वारा किए जा रहे सात दिवसीय नाट्य एवं कला महोत्सव के पांचवे दिन हरियाणा लोक कलाओं की प्रस्तुति हुड्डा कन्वेन्शन हॉल सेक्टर-12 में की गई। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में ओ.पी. भाटी एवं मदन डागर आदि मौजूद रहे। इस मौके पर बृज नट मण्डली के अध्यक्ष बृज मोहन भारद्वाज एवं उनके साथिओं द्वारा अतिथिओं का फूल माला पहनाकर स्वागत किया गया। इसके पश्चात दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई।

कार्यक्रम की शुरुआत “तू राजा की राजदुलारी” हरियाणवी गाने पर शानदार प्रस्तुति से हुई। इसके पश्चात “देशी कलाकार” नीरज कौशिक ने हास्य प्रस्तुति देकर पूरे सभागार को लोट-पोट कर दिया। हरियाणी रागनी “हे भगवान साँच बतला दे” गाकर ज्ञानेंद्र सरदना ने सभागार को तालियों से भर दिया। इसके साथ ही ज्ञानेंद्र सरदना ने “किस्सा-ए-वीरगति” गाकर दर्शकों को भावविभोर कर दिया। उनकी इस रागनी पर खुश होकर दर्शकों ने उन्हें प्रोत्साहन हेतू नकद ईनाम देकर सम्मानित भी किया।

इसके साथ ही राजकुमार तेवतिया ने हरियाणवी रागनी “इश्क ने आवाज दी इंसान को” गाकर दर्शकों का मन मोह लिया। इसी बीच कार्यक्रम को और अधिक रोमांच देते हुए बृजमोहन भारद्वाज ने हरियाणवी-अंग्रेजी रैप गाकर सबको चकित कर दिया।

हरियाणवी नृत्य ने बांधा समां

हरियाणवी गानों पर शानदार प्रस्तुति देते हुए लोक नृत्य कलाकार लोकेश, मनोज, ललित, मोहित, नरेश, इनाम, भावना, पूजा, गिन्नी, निशा व कविता ने कार्यक्रम में चार चाँद लगा दिए। इन्होने अनेकों हरियाणवी गानों पर मनमोहक प्रस्तुति देकर सभागार को अपने साथ नाचने पर मजबूर दिया।

“देशी कलाकार” ने जमाया देशी रंग

“देशी कलाकार” के नाम से प्रसिद्ध एवं दूरदर्शन पर प्रसारित हुए हास्य प्रोग्राम “हंसाने का मुखिया कौन” के सेमीफाइनलिस्ट नीरज कौशिक ने अपनी हास्य कला के माध्यम से पूरे सभागार को हंसा-हंसा कर लोट-पोट कर दिया। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लाल कृष्ण आडवाणी, अन्ना हजारे के साथ-साथ मोटर साईकिल, शंख व रेल इंजन आदि की आवाज निकाल कर समां बाँधा। नीरज कौशिक मंच पर अपनी हाजिर जवाबी के लिए भी जाने जाते हैं।

कार्यक्रम के अंत में बृज नट मण्डली द्वारा मुख्य अतिथि ओ. पी. भाटी, मदन डागर व ‘देशी कलाकार” नीरज कौशिक के माता-पिता को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया।

इस मौके पर ओ. पी. भाटी ने बृज नट मण्डली को प्रोत्साहन स्वरूप 21 हजार रुपए देने की भी घोषणा की। इसके साथ ही बृज नट मण्डली के अध्यक्ष बृजमोहन भारद्वाज ने अपनी मण्डली की और से मुख्य अतिथि, सभी कलाकारों और उपस्तिथ सभी दर्शकों का हार्दिक धन्यवाद करते हुए भविष्य में इसी तरह प्यार को बनाये रखने की कामना की।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here