कानून के मुताबिक एनडीटीवी प्रवर्तकों पर कार्रवाई : सीबीआई

0
50

नई दिल्ली। टेलीविजन चैनल एनडीटीवी के प्रवर्तकों पर बैंक धोखाधड़ी के सिलसिले में मारे गये छापों को लेकर उठाये गये सवालों पर केन्द्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) ने सफाई दी है कि सक्षम न्यायालय के जांच वारंट जारी करने के बाद ही यह कदम उठाया गया है। ब्यूरो ने मंगलवार को जारी बयान में कहा कि उसने एनडीटीवी के किसी पंजीकृत कार्यालय , मीडिया स्टूडियो, समाचार कक्ष अथवा परिसर में छापा नहीं मारा है।

गौरतलब है कि एनडीटीवी के सह संस्थापक और सह अध्यक्ष प्रणय रॉय और उनकी पत्नी राधिका रॉय, एक निजी कंपनी तथा कुछ अन्य पर सीबीआई ने आईसीआईसीआई बैंक को 48 करोड़ रुपये के कथित नुकसान को लेकर दिल्ली और देहरादून में चार स्थानों पर छापा मारा था। सीबीआई ने कहा कि वह प्रेस की आजादी का पूरा सम्मान करती है और वह समाचार परिचालन के स्वतंत्र कार्य करने के लिये प्रतिबद्ध है। ब्यूरो ने आईसीआईसीआई बैंक के एक शेयर धारक की शिकायत पर मामला पंजीकृत किया और उसके बाद कार्रवाई की । उसने कहा कि ब्यूरो किसी के दबाव में काम नहीं करता और उस पर आरोप लगाकर उसकी छवि खराब करने का प्रयास किया गया । छापे अदालत की प्रक्रिया के तहत डाले गये। जांच का जो भी नतीजा होगा, वह सक्ष्म न्यायालय के समक्ष रखा जायेगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here