करो या मरो के मुकाबले में पाकिस्तान का सामना दक्षिण अफ्रीका से

0
60

बर्मिंघम। भारत के खिलाफ करारी हार के बाद पस्त दिखाई दे रही पाकिस्तानी टीम बुधवार को इसी मैदान पर आईसीसी चैंपियंस ट्राफी ग्रुप बी के अपने दूसरे मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका की एक और मुश्किल चुनौती का सामना करने उतरेगी। भारत ने पाकिस्तान को टूर्नामेंट के पहले ही मुकाबले में 124 रन के बड़े अंतर से चित कर दिया था। इस मैच में न सिर्फ पाकिस्तानी खिलाड़ी दबाव में दिखे बल्कि टीम की खराब गेंदबाजी, बकवास बल्लेबाजी और उससे भी खराब क्षेत्ररक्षण ने उसकी तैयारियों की पोल खोलकर रख दी। चिर प्रतिद्वंद्वी भारतीय टीम के सामने पाकिस्तान कोई चुनौती नहीं पेश कर पाने को लेकर आलोचकों के निशाने पर है। वहीं दक्षिण अफ्रीकी टीम ने श्रीलंका के खिलाफ 96 रन की जीत के साथ अपना खाता खोला है और सेमीफाइनल के लिये अपनी स्थिति मजबूत करने के लिहाज से पाकिस्तान पर जीत उसके लिये महत्वपूर्ण होगी जो फिलहाल ग्रुप बी में आखिरी पायदान पर है। इस ग्रुप में गत चैंपियन भारत और दक्षिण अफ्रीका ही दो मजबूत टीमें हैं।

पाकिस्तानी टीम के लिये उसके खिलाड़ियों की खराब फिटनेस भी बड़ी समस्या है और चैंपियंस ट्राफी में एक मैच बाद ही उसके तेज गेंदबाज वहाब रियाज टखने की चोट के कारण शेष टूर्नामेंट से बाहर हो गये हैं। वहाब ने भारत के खिलाफ 8.4 ओवर में 87 रन लुटाए थे और आखिरी में बल्लेबाजी के लिये भी नहीं उतरे थे। उनकी जगह टीम के पास अब तेज गेंदबाज जुनैद खान या ऑलराउंडर फहीम अशरफ को टीम में शामिल करने का विकल्प होगा।    इसके अलावा कई और बल्लेबाज भी मैच में क्रैम्प के कारण परेशान दिखे। खुद कोच मिकी आर्थर ने माना कि उनके खिलाड़ी योजनाओं को मैदान पर लागू ही नहीं कर पा रहे हैं। किनारे से ही चैंपियंस ट्राफी के लिये क्वालीफाई कर सकी पाकिस्तानी टीम को यदि अपनी उम्मीदें बनाये रखनी हैं तो उसे खेल के हर विभाग में व्यापक सुधार करना होगा। अजहर अली, मोहम्म हफीज, शोएब मलिक, कप्तान सरफराज अहम अच्छे बल्लेबाज हैं। हालांकि पिछले मैच में अजहर के अलावा बाकी बल्लेबाजों ने निराश किया। गेंदबाजों में मोहम्मद आमिर, इमाद वसीम, हसन अली, शादाब खान अच्छे खिलाड़ी हैं। पिछले मैच में खान 10 ओवर में 52 रन पर एक विकेट लेकर पाकिस्तानी टीम के सबसे किफायती गेंदबाज रहे थे।

टीम को किफायती गेंदबाजी के साथ क्षेत्ररक्षण में भी सुधार जरूरी है क्योंकि उसके फील्डरों ने पिछले मैच में युवराज और विराट जैसे खतरनाक बल्लेबाजों के कैच टपकाये थे। दक्षिण अफ्रीकी टीम दूसरी ओर अच्छी स्थिति में है। श्रीलंका के खिलाफ मैच में उसके बल्लेबाजों और गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया था। हाशिम अमला इस मैच में 103 रन की जबरदस्त शतकीय पारी खेलकर सफल रहे थे। वहीं फाफ डू प्लेसिस, एबी डीविलियर्स,डेविड मिलर और जेपी डुमिनि के रूप में उसके पास अच्छे बल्लेबाज हैं। गेंदबाजों में कैगिसो रबादा उसके सबसे सफल खिलाड़ी हैं जिन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ अभ्यास सीरीज में भी सर्वाधिक विकेट निकाले थे। अनुभवी इमरान ताहिर ने पिछले मैच में 27 रन पर चार विकेट की बेहतरीन गेंदबाजी की थी। मोर्न मोर्कल, वाएने पार्नेल और क्रिस मौरिस भी उसके गेंदबाजी क्रम की ताकत हैं और पाकिस्तान की खराब बल्लेबाजी को ध्वस्त करने की जिम्मेदारी इनपर रहेगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here